स्पोर्ट्स / क्रिकेट के अपने ही आइडल सिक्सर किंग युवराज सिंह को चुनौती देंगे 'युवराज'



Young Cricketer Yuvraj will challange his own idol sixer king Yuvraj Singh.
X
Young Cricketer Yuvraj will challange his own idol sixer king Yuvraj Singh.

  • क्वाड्रैंगुलर सीरीज के लिए इंडियन अंडर-19 टीम में चुने गए युवराज चौधरी
  • 2011 के वर्ल्ड कप की हर शॉट यंग युवराज को याद है, उन्होंने उनके शॉट्स को अपनी गेम में कॉपी किया है

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 01:16 PM IST

चंडीगढ़. चंडीगढ़ के युवराज कई सालों तक इंडियन टीम की जान रहे हैं। सिक्सर किंग युवराज सिंह ने हर टीम को अपने शॉट्स से परेशान किया और अब चंडीगढ़ का दूसरा युवराज इंडियन क्रिकेट पर छाने के लिए तैयार है। सिटी के 17 वर्षीय युवराज चौधरी का सिलेक्शन 3 मार्च से शुरू होने वाली क्वाड्रैंगुलर सीरीज के लिए इंडियन टीम में हुआ है।

 

युवराज सिंह ने इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू अक्टूबर, 2000 में नैरोबी में डेब्यू किया था और तब युवराज चौधरी का जन्म भी नहीं हुआ था। युवराज चौधरी ने अपने पूरे करियर में शॉट्स लगाते हुए युवी को देखा है और वही उनके आइडल भी हैं। 2011 के वर्ल्ड कप की हर शॉट यंग युवराज को याद है। उन्होंने उनके शॉट्स को अपनी गेम में कॉपी किया है। फिर वो चाहे कवर ड्राइव हो या फिर बैकफुट पर जाकर पंच शॉट्स। युवराज चौधरी भी अपने आइडल की तरह लेफ्ट आर्म स्पिन बॉलिंग भी करते हैं।


युवराज चौधरी को अब अंडर-19 इंडिया-ए टीम से क्वाड्रैंगुलर सीरीज में खेलना है जिसका आयोजन 5 मार्च से तिरुवनंतपुरम में होना है। इसमें इंडिया-ए, इंडिया-बी, अफगानिस्तान और द.अफ्रीका की टीमें खेलेंगी। युवराज चौधरी 5 साल पहले उत्तराखंड के रुड़की से चंडीगढ़ आए थे। उनके पिता किसान हैं और उन्होंने बेटे को पूरा सपोर्ट किया। युवराज ने कहा कि मेरे पिता ने मुझे चंडीगढ़ भेजा तो वो फैसला लेना काफी मुश्किल था। पहला ये कि हमारी फाइनेंशियल पोजिशन अच्छी नहीं थी और मैं काफी छोटा था। उन्होंने मुझे इसके बाद भी पूरा सपोर्ट किया। युवराज बोले कि अंडर-19 टीम में शामिल होना मेरे लिए करियर की बड़ी कामयाबी है। अब मेरा अगला टारगेट इंडिया की मेन अंडर-19 टीम में जगह बनाना होगा जहां मैं राहुल द्रविड़ सर के अंडर ट्रेनिंग करूंगा।


चंडीगढ़ की जीत के स्टार रहे युवराज...
12 साल की उम्र में युवराज ने चंडीगढ़ में गुरुसागर क्रिकेट एकेडमी जॉइन की। उन्हें पूर्व रणजी क्रिकेटर अमित उनियाल ने कोचिंग दी। कुछ साल चंडीगढ़ में ट्रेनिंग लेने के बाद युवराज को अंडर-16 इंटर डिस्ट्रिक्ट टीम में शामिल किया गया। उन्हीं की शानदार बल्लेबाजी की बदौलत टीम ने एमएल मरकन ट्रॉफी 2017 में जीती। युवराज के बल्ले से टूर्नामेंट में 270 रन निकले और 37 विकेट भी उनके नाम रहे।


कोच मानते हैं हैंड हाई को-आॅर्डिनेशन को बेस्ट...
युवराज चौधरी के कोच अमित उनियाल ने पंजाब की ओर से 28 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं और वे युवराज के लिए इसे सही समय पर मिला मौका मानते हैं। उनियाल ने युवराज की गेम पर काफी मेहनत की है। उनियाल ने कहा कि आपको यंग युवराज में द ग्रेट युवराज सिंह दिखाई देगा। चौधरी की बैटिंग शानदार है और उसका हैंड-आई कोआर्डिनेशन शानदार है। वो एक अच्छा बॉलर भी है और हर मौके पर टीम को विकेट दिला सकता है।
 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना