चंडीगढ़ / सामान लेकर नहीं दिए रुपए, देनदार के घर के सामने निगला जहर, मौत



प्रतीकात्मक प्रतीकात्मक
X
प्रतीकात्मकप्रतीकात्मक

  • पंचकूला के पोल्ट्री फार्म मालिक को 1 करोड़ 20 लाख का सामान बेचा था
  • रोबिन के बड़े भाई मयंक ने बताया कि उसकी 3 महीने की बेटी है

Dainik Bhaskar

Jun 15, 2019, 06:43 AM IST

पंचकूला. जगाधरी से पंचकूला सेक्टर-4 में बार-बार अपने 1 करोड़ 20 लाख रुपए मांगने के लिए आने वाले 2 भाइयों में से एक ने शुक्रवार को देनदार के घर के सामने ही सुसाइड कर लिया। जगाधरी निवासी रोबिन गोयल ने सेक्टर-4 में जब सल्फास निगला तो आरोपी राजीव का परिवार एक दम घर के अंदर घुस गया और लॉक लगा लिया। जिसके बाद रोबिन को सेक्टर-21 स्थित प्राइवेट हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया। देरशाम करीब सवा 7 बजे उसने दम तोड़ दिया। 

 

मामले की जानकारी पुलिस को दी गई तो सामने आया कि रोबिन की जेब में सुसाइड नोट लिखा हुआ था। रोबिन और उसका भाई पोल्ट्री फार्म को दाने की सप्लाई करते थे। साढे 4 साल पहले ही उसका संपर्क आरोपी राजीव गर्ग, रोमी गर्ग, अनिरुद्ध गर्ग और सटैफी गर्ग से हुआ था। इन लोगों ने रोबिन ने सामान लेना शुरू कर दिया। रोबिन को राजीव से 1 करोड़ 20 लाख रुपए लेने थे। इसके लिए उन्होंने कई बार मीटिंग की। 

 

तय किया गया कि 14 जून को राजीव पेमेंट करेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। जब रोबिन और उसका बड़ा भाई पेमेंट लेने पहुंचे तो उन्हें घर में एंटर नहीं होने दिया। परिवार के लोगों ने उनसे बदतमीजी की। जिसके बाद परेशान रोबिन ने जहर निगल लिया। पास ही खड़े बड़े भाई ने उसे पानी पिलाया और गाड़ी में डालकर हॉस्पिटल ले आया।

 

जहां उसकी हालात नाजुक देखते हुए अल्केमिस्ट में एडमिट करवाया गया। रोबिन के बड़े भाई मयंक ने बताया कि उसकी 3 महीने की बेटी है। भाई की उम्र करीब 31 साल थी। ये सुसाइड नोट रोबिन की जेब में था, जब अस्पताल में उसे लाया गया तो डॉक्टर को उसकी जेब से ये सब मिला। जिसके बाद पुलिस ने देर शाम मामले की जांच शुरू कर दी।

 

ये लिखा सुसाइड नोट मे :

रोबिन के सुसाइड नोट में लिखा कि राजीव गर्ग, रोमी गर्ग, अनिरुद्ध गर्ग और सटैफी गर्ग मेरे घर आए थे। मुझे कहा गया था कि हमें कोई सामान नहीं दे रहा। आप हमारे बड़े भाई हो। हमारे 3 पोल्ट्री फार्म हैं। रुपए टाइम पर दिए जाएंगे। जिसके बाद सामान दिया, लेकिन गर्ग ने पहले अपना एक पोल्ट्री फार्म बेचा और उसके बाद दूसरा। हमें कहा कुछ दिन में पेमेंट दे देगा। लेकिन उसके बाद तीसरा पोल्ट्री फार्म सेल पर लगा दिया और घर बेच दिया।

 

अगर इन लोगों ने रुपए नहीं दिए तो मेरा परिवार सड़क पर आ जाएगा। मेरे पास मरने के अलावा कोई रास्ता नहीं है। क्योंकि मेरे ऊपर बैंक लोन भी है। मैं अपने परिवार से विनती करता हूं कि आप समय पर सारी देनदारी देना चाहे सब कुछ बेचना पड़े। आगे लिखा कि ये तो सिर्फ शुरुआत है, आगे भी इन लोगों के कारण कई जानें जाएंगी। इनका काम केवल अपने रिश्तेदारों के साथ मिलकर लोगों को सड़क पर लाना है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना