नया नियम / गलती से भी फास्ट टैग लेन में कैश वाला घुस आया तो उसे जुर्माने के रूप में दोगुना टोल चुकाना होगा

If the cash accidentally enters the fast tag line then you will have to pay double the toll
X
If the cash accidentally enters the fast tag line then you will have to pay double the toll

  • 2 लेन में ही कैश सुविधा होगी, बाकी लेन फास्ट टैग धारकों के लिए होंगी
  • अंबाला-चंडीगढ़ हाईवे पर दप्पर स्थित टोल प्लाजा पर जुट रहे लोग

Dainik Bhaskar

Dec 02, 2019, 10:17 AM IST

चंडीगढ़/ डेराबस्सी. देशभर में नेशनल हाईवेज के तमाम टोल प्लाजा पर 15 दिसंबर से फुलफ्लेज फास्ट टैग सुविधा लागू होने जा रही है। अनिवार्य बने फास्ट टैग के बाद नकद टोल चुकाने वालों को आने-जाने में अब केवल एक ही लेन मुहैया होगी, जबकि 10 लेन फास्ट टैग धारकों को समर्पित हो जाएंगी।

गलती से भी फास्ट टैग लेन में कैश वाला घुस आया तो उसे जुर्माने के रूप में दोगुना टोल चुकाना होगा। नेशनल हाईवेज द्वारा इस नई ऑनलाइन व्यवस्था से राहगीरों के समय, खर्च और परेशानी में कटौती का दावा किया जा रहा है। कार्ड बनवाने में कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। वैसे फास्ट टैग कार्ड जारी करने के लिए आईसीआईसी बैंक एयरटेल और पेटीएम जैसे बैंक एवं वित्तीय संस्थाएं अपने काउंटर मौके पर खोले हुए हैं।

एयरटेल और पेटीएम 150 रु में फुल यूसेज वैल्यू दे रही है, जबकि आईसीआईसीआई बैंक 400 रुपए में 200 रुपए और एचडीएफसी बैंक में 200 रुपए रिफंडेबल सिक्योरिटी और 300 रुपए रीचार्ज के लिए जा रहे हैं। टोल से गुजर रहे लोगों का आरोप है कि उनसे ओवर चार्ज किया जा रहा है हालांकि प्रबंधक इससे इनकार कर रहे हैं, लेकिन सर्वर डाउन की समस्या और बैंक स्टाफ द्वारा असहयोग पूर्ण रवैए की भी शिकायतें आ रही हैं।


फास्ट टैग व कैश धारकों में बड़ा अंतर नई सुविधा को चुनौती

दप्पर टोल प्लाजा पर फास्ट टैग की नई सुविधा लागू करने में सबसे बड़ी चुनौती फास्ट टैग धारक व गैर धारकों की संख्या के बीच बड़ा अंतर है। 38 हजार गाड़ियों की रोजाना आवाजाही के बावजूद अप्पर में महीने पहले तक महज 6500 फास्ट टैग धारक थे जबकि फास्ट टैग तीन साल पूर्व सबसे पहले दप्पर टोल पर ही लागू हुई थी। मौजूद नवंबर महीने में फास्ट टैग संख्या बढ़कर 10 हजार से अधिक ज़रुरी हो गई है परंतु कम से कम 20 हजार नए यूजर्स बनने पर ही स्थिति सामान्य होने के आसार हैं। तब तक कैश धारकों के लिए सिंगल लेन फार्मूला कामयाब होने के आसार नहीं।

24 घंटे में 2 बार पैसे कटे ताे अापके वॉलेट में वापस आ जाएंगे
कहीं बाहर जाते समय टोल पर फास्ट टैग का इस्तेमाल कर रहे हैं और अगर आप 24 घंटे में वापस आ जाते हैं आपका दो बार पैसा कट जाता है तो आपको घबराने की जरूरत नहीं हैं। क्योंकि रिटर्न का जो बैलेंस अमाउंट वापस आपके वॉलेट में आ जाएगा। अभी लोगों को लग रहा है कि दो बार पैसे कट रहे हैं लेकिन ऐसा नहीं है। अधिकारियों का कहना है कि सिस्टम में प्रोविजन किया गया है कि जो भी वाहन 24 घंटे में वापस आ जाएगा उसका पैसा वापस आ जाएगा।

सुविधा के लिए बढ़ाई जा सकती हैं कैश लेन: हाईवेज
फास्ट टैग व कैश यूजर्स में बड़े अंतर के सवाल पर नैशनल हाईवेज के प्रोजेक्ट डायरेक्टर केएल सचदेवा ने बताया कि अभी तक 25 फीसदी ही टैग धारक बन पाए हैं परंतु जिस रफ्तार से नए यूजर्स बढ़ रहे हैं, एकाध महीने में अंतर बेहद कम हो जाएगा। फास्ट टैग सुविधा पूरी तरह लागू होने पर लोगों को लंबी कतारों में लगना नहीं पड़ेगा, न ही खुले पैसे जेब में रखने होंगे। बेरोकटोक मूवमेंट से समय और परेशानी में कटौती होगी। 24 घंटे में अप डाउन करने पर पैसा यूजर के पास रिफंड आ जाएगा। अधिक यू सेज होगा ढ़ाई फीसदी कैशबैक भी यूजर के खाते में पहुंचेगा। नेशनल हाईवेज के प्रोजेक्टर द्वारा जिला उपायुक्त को चिट्ठी लिखकर अतिरिक्त पुलिस तैनात करने की विशेष मांग की गई है। 

रोज 700 से 800 एप्लीकेशन आ रहीं

पंचकूला सेक्टर 20 आईसीआईसीआई बैंक के फास्ट टैग का काम देखने वाले अधिकारियों ने बताया कि ट्राईसिटी से रोजाना 700 से 800 कम एप्लीकेशंस आ रही है वही सेक्टर 20 के ब्रांच में रोजाना 100 से ज्यादा लोग फास्ट टैग के लिए एप्लीकेशन दे रहे हैं। ब्रांच में लोग कैश या एटीएम कार्ड से पेमेंट के लिए आ रहे हैं और वहां परेशानी हो रही है। जबकि नियम के मुताबिक एनईएफटी या यूपीआई के माध्यम से लोग इसकी पेमेंट कर सकते हैं। इस महीने के अंत तक 10000 से ज्यादा एप्लीकेशंस एक्सेप्ट होंगी। लोगों द्वारा दी जाने वाली एप्लीकेशन को डील करने के लिए सभी टोल प्लाजा पर डीएसए सेंटर में काम हो रहा है कुछ काम आउटसोर्सिंग बेस पर भी करवाया जा रहा है।

ये एहतियात बरतनी जरूरी...

  • आने-जाने वाली केवल दो लेन पर टोल के लिए कैश स्वीकार किया जाएगा।
  • ये दोनों लेन चालक के सबसे दाईं वाली टोल प्लाजा के सेंटर में पड़ेंगी।
  • कैश लेन में फास्ट टैग स्वीकार होगा परंतु फास्ट टैग में कैश नहीं। उल्टा कैश वाले से दोगुना टोल वसूला जाएगा।
  • फास्ट टैग के बेहतर परिणाम के लिए आगे जा रहे वाहन के बीच एक गाड़ी जितना फासला रखें।
  • इसके अलावा फास्ट टैग रिचार्ज सेलफोन की तरह हमेशा अपडेट रखें।
  • फास्ट टैग के साथ ज्यादा आवाजाही वाले को ढ़ाई फीसदी कैश बैक भी मिलेगा।
  • नए फास्ट टैग कार्ड के लिए चालक को वाहन की आरसी और आधार कार्ड रखने जरुरी हैं। 
  • 24 घंटे के अंदर यदि आपकी गाड़ी उसी टोल से अप डाउन करेगी तो यह छूट ऑटोमेटिक तौर पर टोल धारक के खाते में जमा हो जाएगी।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना