पंचकूला / पुलिस कर रही सबसे ज्यादा मानवाधिकारों का उल्लंघन

प्रतिकात्मक फोटो। प्रतिकात्मक फोटो।
X
प्रतिकात्मक फोटो।प्रतिकात्मक फोटो।

  • आयोग के पास आंकड़े, 2560 मामलों में आधे से ज्यादा पुलिस से संबंधित
  • कई लोगों का आरोप, गलत एफआईआर की धमकी देते हैं

दैनिक भास्कर

Dec 11, 2019, 06:05 AM IST

पंचकूला. प्रदेश में मानवाधिकार आयोग का सबसे ज्यादा उल्लंघना पुलिस महकमा कर रहा है। इस बात की गवाही खुद आयोग के आंकड़े दे रहे हैं। आयोग के पास जनवरी से नवंबर तक आए कुल 2560 मामलों में सबसे ज्यादा 1346 केस पुलिस से संबंधित हैं।

इनमें ज्यादातर लोगों को घंटों थाने में बिठाने से लेकर गलत एफआईआर में नाम डालने जैसे मामले शामिल हैं। इसके अलावा थानों में मारपीट किए जाने के अलावा आरोपी को नहीं पकड़ने के मामले ह्यूमन राइट कमिशन हरियाणा के पास पहुंचे है।

पुलिस से जुड़े 952 मामले आयोग ने निपटा भी दिए हैं। इनमें कइयों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही की सिफारिश भी की गई है। अभी पुलिस से जुड़े 394 मामले आयोग के पास पेंडिंग हैं। आयोग अब तक आए कुल केसों में 1821 मामले निपटा चुका है।


आयोग के महिलाओं और बच्चों को प्रताड़ित किए जाने या यूं कहें कि उनके अधिकारों की उल्लंघना के मामले भी कम नहीं है। महिलाओं से जुड़े 153 मामले आयोग तक पहुंचे हैं तो बच्चों से जुड़े 32 केस आए हैं। आयोग ने महिलाओं के 116 तो बच्चों के 24 केस निपटा भी दिए हैं।


आयोग के पास पुलिस डिपार्टमेंट और म्युनिसिपल कारपोरेशन के बाद बिजली डिपार्टमेंट और हेल्थ डिपार्टमेंट के मामले ज्यादा आए हैं। इनमें बिजली डिपार्टमेंट की शिकायतों में बिजली चोरी के मामले भी शामिल है। लोगों ने बिजली डिपार्टमेंट पर यह भी आरोप लगाए हुए हैं कि हर्जाना भरने के बाद भी मीटर नहीं लगाया जाता।

इसके अलावा ऐसे भी मामले है जिनमें माैके पर बिजली चोरी नहीं पकड़ी जाती, लेकिन उस चोरी को लैब में जाकर पकड़ा जाता है। इसके अलावा हेल्थ डिपार्टमेंट की भी ज्यादा शिकायतों है, जिसमें जनरल अस्पताल से लेकर हेल्थ सेंटर पर मरीजों के इलाज में देेरी से लेकर उन्हें ट्रीटमेंट नहीं देने के भी मामले है।
आयोग के आंकड़ों की गवाही

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना