पंजाब / प्रोग्रेसिव इन्वेस्टर समिट आज, सरकार ने आर्थिक संकट को देखते हुए समिट के बजट में की कटौती

प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • ढाई साल में पंजाब में 50 हजार करोड़ के निवेश को मिली है मंजूरी
  • सिंगापुर, यूएसए, स्विट्जरलैंड, समेत कई देशों के प्रतिनिधि लेंगे हिस्सा

Dainik Bhaskar

Dec 05, 2019, 11:47 AM IST

चंडीगढ़. पंजाब में पूंजी निवेश को बढ़ावा देने के लिए प्रोग्रेसिव पंजाब इनवेस्टर समिट 2019 को लेकर सरकार ने अपने बजट में कटौती कर दी है। पहले इस समिट पर 6 करोड़ का खर्च आने का अनुमान लगाया था। इसके बाद सूबे की आर्थिक हालातों को देखते हुए सरकार ने इसके बजट में कटौती करते हुए 1.25 करोड़ रुपये खर्च करने का फैसला किया है।

अधिकारियों का मानना है कि आयोजन के बजट में की गई कटौती से आयोजन पर कोई असर नहीं पड़ेगा। सरकार ने इस आयोजन को सफल बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। अधिकारी दिन रात एक कर समिट में आने वाले निवेशकों से टाइ-अप कर रहे हैं। सरकार यह बात अच्छी तरह से जानती है कि इंवेस्टमेंट करने वालों से सरकार को दोहरा फायदा होगा। जहां एक ओर सरकार को राजस्व मिलेगा वहीं दूसरी और सूबे के युवाओं के लिए रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। बीते ढाई सालों के दौरान सूबे में 50 हजार करोड़ के निवेश को आया है। इस बार सरकार को इससे दोगुना इंवेस्टमेंट होने की उम्मीद है।  यह समिट मोहाली में इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस में होगा।
 

इन क्षेत्रों पर रहेगा फोकस
समिट के दौरान सरकार का फोकस बड़े उद्योगों को लगाना के साथ  सूक्ष्म, लघु और मध्यम दर्जे के उद्योगों को बढ़ावा देने के साथ ग्लोबल वेल्यू चेन में भागीदारी को बढ़ाना है। सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों में कम पड़े लिखे युवाओं को भी रोजगार के अवसर मिलेंगे। 
 

इन कंपनियों ने किया है निवेश
सूबे में फूड प्रोसेसिंग के क्षेत्र में स्पेन की सीएन इफको ने लुधियाना में 521 करोड रुपये,पठानकोट में पेप्सीको ने 800 करोड,पेट्रो कैमिकल के क्षेत्र में 21991 करोड,आईओएल कैमिकल द्वारा लुधियाना में 231 करोउ़,हीरो साइकिल लुधियाना में 209 करोड़,शिक्षा के क्षेत्र में 2700 करोउ, आटोमोबाइल के क्षेत्र में 550 करोड निवेश किया गया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना