असुविधा / प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल अाईजीएमसी में राेजाना अा रहे तीन हजार मरीज पर बैठने के लिए एक बेंच तक नहीं

अाईजीएमसी शिमला में  मजबूरन फर्श पर बैठीं महिलाएं अाईजीएमसी शिमला में मजबूरन फर्श पर बैठीं महिलाएं
X
अाईजीएमसी शिमला में  मजबूरन फर्श पर बैठीं महिलाएंअाईजीएमसी शिमला में मजबूरन फर्श पर बैठीं महिलाएं

  • पर्ची काउंटर के पास पहले थे बेंच अब वे भी हटा दिए हैं, जिससे अाई है ये दिक्कत
  • गंदे फर्श पर बैठना मरीजों और उनके अटेंडेंट की बन गई मजबूरी

दैनिक भास्कर

Sep 14, 2019, 01:33 PM IST

शिमला. अाईजीएमसी में रिसेप्शन अाैर इमरजेंसी में एंट्री के लिए प्रशासन ने करीब एक साल पहले अलग-अलग दरवाजे किए थे। इसके लिए बाकायदा यहां पर दीवार तुड़वाई गई थी। एंट्री अलग-अलग करके प्रशासन ने भीड़ कम करने के लिए फार्मूला ताे निकाल लिया, मगर यहां पर इलाज के लिए अाने वाले मरीजाें के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है।

 

अाईजीएमसी के रिसेप्शन काउंटर में अब एक भी कुर्सी मरीज के बैठने के लिए नहीं है। रिसेप्शन के साथ पर्ची काउंटर भी है, जहां पर मरीज अाैर तीमारदार पर्चियां बनाने के लिए घंटाें कताराें में लगे रहते हैं। जबकि काेई सीरियस पेशेंट है ताे उसे बैठने तक काे जगह नहीं मिलती। अगर वह जमीन पर बैठना भी चाहें ताे उसे तुरंत सिक्याेरिटी कर्मचारी वहां से उठा देते हैं।

 

राेजाना यह समस्या मरीजाें के साथ अाईजीएमसी में अा रही है। कई ऑर्थो के मरीज खड़े नहीं रह सकते, उन्हें ज्यादा मुश्किल आ रही है। पेशेंट दूर दराज के क्षेत्राें से इलाज के अाते हैं। अधिकांश पेशेंट काफी बीमार हाेते हैं जाे खड़े तक नहीं हाे पाते। मगर अाईजीएमसी परिसर में मरीजाें के लिए कहीं भी अाराम के लिए जगह नहीं है।

 

जाे ग्रीन हाउस मरीजाें के अाराम के लिए बनाया गया था, उसमें अार्थाे अाेपीडी शिफ्ट कर दी गई थी। इसके अलावा परिसर के बाहर केवल गेट के पास मरीजाें के लिए बैठने काे जगह बनाई है। मगर वहां पर भी करीब 30 से ज्यादा मरीज नहीं बैठ पाते। ज्यादातर मरीजाें काे या ताे फर्श पर बैठना पड़ता है या फिर खड़े ही रहना पड़ता है, क्याेंकि परिसर में भी मरीजाें के लिए ज्यादा कुर्सियां नहीं है।
 

जल्द मिलेगा नया ओपीडी ब्लॉक: वहीं वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ. जनकराज के मुताबिक अाईजीएमसी में भीड़ लगातार बढ़ती जा रही है। राेजाना 3000 से ज्यादा मरीज अा रहे हैं। पर्ची काउंटर के पास जगह की कमी है, यहां पर रिसेप्शन, अायुष्मान अाैर हिमकेयर काउंटर भी हैं। इसके चलते यहां पर कुर्सियां हटाई गई हैं, यह कुर्सियां अन्य फ्लाेर में लगाई गई है, जहां मरीज बैठ सकते हैं। अाईजीएमसी का नया अाेपीडी ब्लाॅक जल्द ही प्रशासन काे मिल जाएगा। उसमें मरीजाें की सभी सुविधाअाें का ध्यान रखा जाएगा।

 

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना