धर्मशाला / डीजीपी ने कहा- महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध के लिए पॉर्न साइट्स भी एक कारण

धर्मशाला में प्रदेश पुलिस प्रमुख एसआर मरड़ी प्रेस से बात करते हुए धर्मशाला में प्रदेश पुलिस प्रमुख एसआर मरड़ी प्रेस से बात करते हुए
X
धर्मशाला में प्रदेश पुलिस प्रमुख एसआर मरड़ी प्रेस से बात करते हुएधर्मशाला में प्रदेश पुलिस प्रमुख एसआर मरड़ी प्रेस से बात करते हुए

  • डीजीपी ने कहा- केंद्रीय गृह मंत्रालय के साथ हिमाचल पुलिस रख रही पॉर्न साइट्स पर नजर
  • उन्होंने यह भी बताया- साइबर क्राइम से निपटने के लिए नया मैनुअल तैयार किया गया है

दैनिक भास्कर

Feb 13, 2020, 07:22 PM IST

धर्मशाला. पुलिस प्रमुख एसआर मरडी ने कहा कि लगातार सामने आ रही महिला उत्पीड़न की घटनाओं के लिए पॉर्न साइट्स भी एक कारण है। हिमाचल पुलिस केंद्रीय गृह मंत्रालय के साथ ऐसी साइट्स पर नजर रखे है। केंद्रीय गृह मंत्रालय से मिली सूचनाओं के आधार पर मामले भी दर्ज किए गए हैं। चाइल्ड पोर्नोग्राफी असेस पर पहले से ही पूर्ण प्रतिबंध है, इसपर मामले दर्ज किए गए हैं। आईपीसी की धारा में भी संशोधन हुआ है। धारा 354 में अब प्रावधान है कि अश्लील शब्द या इशारा करने पर भी मामला दर्ज किया जा रहा है।

हिमाचल प्रदेश पुलिस ने साइबर क्राइम से निपटने के लिए अन्वेषण अधिकारियों के लिए एक नया मैनुअल तैयार किया है। इससे जांच में बड़ी मदद मिलेगी। आधुनिक युग में अन्वेषण के तरीके भी बदले हैं जिससे जल्द जांच का काम पूरा हो सकता है। यह खुलासा गुरुवार को धर्मशाला में प्रदेश पुलिस प्रमुख एसआर मरड़ी ने प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए किया। उन्होंने कहा कि अगर जांच के बाद अपराधियों को सजा मिले तो लोगों में कानून के प्रति विश्वास बढ़ेगा।

कानून सुशासन का एक महत्त्वपूर्ण अंग है और पुलिस जांच की सुशासन में महत्त्वपूर्ण भूमिका है। नया मैनुअल जांच अधिकारियों के ज्ञान और कौशल में वृद्धि करेगा जिससे जांच प्रक्रिया का अच्छे से पालन किया जा सके। बोले, देशभर में साइबर अपराध तेजी से बढ़ रहे हैं। अपराधी साइबर क्राइम के नए-नए तरीके ढूंढ़ रहे हैं। सबसे बड़ी समस्या हैकिंग की है जिसके चलते लाखों लोग ठगी का शिकार हो रहे हैं। इसे रोकने के लिए और लोगों को जागरुक करने के लिए मीडिया और पुलिस साइबर अपराध को रोकने की दिशा में बेहतर काम कर सकते हैं।

कंटेंट: प्रेम सूद

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना