सुविधा / हेपेटाइटिस बी-सी के एमआरआई से लेकर सारे क्लीनिकल टेस्ट भी हुए फ्री, सरकार ने जारी किया काॅलेजाें को पांच लाख का फंड

आईजीएमसी में हेपेटाइटिस के हर माह 50 से ज्याद पेशेंट इलाज के लिए आते हैं आईजीएमसी में हेपेटाइटिस के हर माह 50 से ज्याद पेशेंट इलाज के लिए आते हैं
X
आईजीएमसी में हेपेटाइटिस के हर माह 50 से ज्याद पेशेंट इलाज के लिए आते हैंआईजीएमसी में हेपेटाइटिस के हर माह 50 से ज्याद पेशेंट इलाज के लिए आते हैं

  • ये सभी टेस्ट करवाने के लिए आता है 6 से 8 हजार रुपए तक खर्च, रोजाना आने वाले मरीजों और गरीबों को होगा लाभ
  • हेपेटाइटिस के मरीजों को ज्यादा फायदा, नेशनल वाॅयरल हेपेटाइटिस कंट्राेल प्राेग्राम के तहत सारा इलाज फ्री किया गया है

Dainik Bhaskar

Jan 15, 2020, 02:20 PM IST

शिमला. आईजीएमसी में अब हेपेटाइटिस ए, सी, ई की एमआरआई समेत अन्य बीमारियों की जांच नि:शुल्क होगी। मरीजों को अब किसी टेस्ट के लिए शुल्क नहीं देना होगा और नाही उन्हें कोई दवा बाहर से खरीदनी पड़ेगी। इसके लिए आईजीएमसी प्रशासन ने सभी विभागाध्यक्ष काे निर्देश जारी कर पांच लाख का फंड जारी कर दिया है। यह इलाज नेशनल वाॅयरल हेपेटाइटिस कंट्राेल प्राेग्राम के तहत किया

ये टेस्ट हाेंगे फ्री

हेपेटाइटिस के मरीजों की एमआरआई, सीटी स्कैन समेत यूएसजी, एंडाेस्काेपी, लीवर बाॅयाेप्सी, हिमाेग्लाेबिन, एलएफटी, आरएफटी, बीटी, सीटी, पीटी आईएनएल, सीरम, ब्लड शुगर, यूरेन एग्जामिन, एक्सरे समेत सभी अन्य टेस्ट फ्री कर दिए गए हैं। यह सभी टेस्ट करवाने के लिए 6 से 8 हजार रुपए तक खर्च आ जाता है। इसके अलावा हेपेटाइटिस के मरीजाें काे पहले से सभी दवाएं फ्री दी जा रही हैं। इसके लिए पहले ही प्रशासन ने अधिसूचना जारी कर दी थी।


दाे मेडिकल कालेजाें में हाे रहा इलाज:

हेपेटाइटिस वाॅयरल का इलाज आईजीएमसी और टांडा मेडिकल कालेज में हाे रहा है। प्रदेश के अन्य अस्पतालाें में अभी इसके इलाज की सुविधा नहीं है। ऐसे में नेशनल वाॅयरल हेपेटाइटिस कंट्राेल प्राेग्राम के तहत दाेनाें मेडिकल कालेजाें के लिए पांच-पांच लाख रुपए का फंड जारी किया गया है। 

हेपेटाइटिस के आते हैं कई पेशेंट

आईजीएमसी में हेपेटाइटिस के हर माह 50 से ज्याद पेशेंट इलाज के लिए आते हैं। 2016 में शहर में पीलिया फैला था, उस समय पांच हजार से ज्यादा लाेग इसकी चपेट में आए थे, जबकि 32 लाेगाें की माैत हुई थी। हालांकि उसके बाद पीलिया का ज्यादा असर नहीं हुआ। बरसात के दाैरान पीलिया के मरीजाें में शहर में बढ़ाेतरी हाेती है। अन्य माह में सामान्य मरीज ही यहां पर आते हैं। मगर अब जाे भी मरीज हेपेटाइटिस से संबंधित हाेगा। उसका इलाज में काेई खर्चा नहीं हाेगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना