तापमान / लाहौल स्पीति में तापमान पहुंचा माइनस 18 डिग्री से नीचे, बर्फ से जमने लगे तालाब

लाहौल स्पीति में तापमान माइनस 18 डिग्री। जमने लगे पत्थर लाहौल स्पीति में तापमान माइनस 18 डिग्री। जमने लगे पत्थर
ठंड से तालाब पर बर्फ जमने लगी ठंड से तालाब पर बर्फ जमने लगी
काजा मंडल में जमती बर्फ काजा मंडल में जमती बर्फ
ठंड से जमने लगे तालाब ठंड से जमने लगे तालाब
बीआरओ की ओर से राेहतांग दर्रे से बर्फ हटाई जा रही है बीआरओ की ओर से राेहतांग दर्रे से बर्फ हटाई जा रही है
X
लाहौल स्पीति में तापमान माइनस 18 डिग्री। जमने लगे पत्थरलाहौल स्पीति में तापमान माइनस 18 डिग्री। जमने लगे पत्थर
ठंड से तालाब पर बर्फ जमने लगीठंड से तालाब पर बर्फ जमने लगी
काजा मंडल में जमती बर्फकाजा मंडल में जमती बर्फ
ठंड से जमने लगे तालाबठंड से जमने लगे तालाब
बीआरओ की ओर से राेहतांग दर्रे से बर्फ हटाई जा रही हैबीआरओ की ओर से राेहतांग दर्रे से बर्फ हटाई जा रही है

  • लोगों को पीने का पानी बर्फ को पिघला कर करना पड़ रहा है
  • काजा मंडल में लोग ज्यादातर समय घरों के अंदर रह कर बिता रहे है

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2019, 01:13 PM IST

कुल्लू(गौरीशंकर). जनजातीय जिला लाहौल स्पीति में ठंड के प्रकोप से जनजीवन पूरी तरह से प्रभावित हो गया है यहां शून्य से नीचे 18 डिग्री तापमान में लोग जीवन मुश्किल से व्यतीत कर रहे हैं। खासकर लाहौल स्पीति के काजा मंडल में शून्य से नीचे 18 डिग्री तक तापमान जा गिरा है । जिसके चलते नदी नाले सब जम हो गए हैं।

यहां पीने के पानी की सप्लाई भी जाम हो गई है, जिससे लोगों को पीने के लिए पानी भी बर्फ को पिघलाकर तैयार करना पड़ रहा है। जबकि घाटी के लाहौल में भी शून्य से 8 से 10 डिग्री नीचे तापमान में लोगों का जन जीवन प्रभावित हो गया है। लोग शून्य से नीचे तापमान में ठंड से बचने के लिए घरों के भीतर ज्यादातर समय बिता रहे हैं।

लाहौल स्पीति की चंद्र ताल, सूरजताल, नीलकॅठ झील सहित तमाम छोटे नदी नाले जम गए हैं। जबकि कुल्लू जिला के ऊंचाई वाले क्षेत्र में भी तापमान शून्य से 3, 4 डिग्री नीचे तक जा पहुंचा है जिला के कुछ हिस्सों में इससे भी नीचे तापमान रिकॉर्ड किया गया है। लिहाजा यहां भी ठंड से बचने के लिए लोगों ने घरों में तंदूर, हीटर आदि लगा रखे हैं जिससे सर्दी को दूर कर रहे हैं।

पिछले दिनों से बर्फबारी के कारण ऊंचे इलाकों में सड़कों पर बर्फ की परत जमी है। धूप निकलने पर बर्फ को हटाने के लिए बीआरओ के जवान दिन-रात मेहनत कर हैं। रोहतांग दर्रे की ओर जाने वाली सड़कों पर बर्फ की 5 फीट परत जमी है। इसे हटाने के लिए सड़क के दोनों किनारों से मशीनाें को लगाया गया है।

प्रशासन की ओर से लोगों को सहायता

प्रशासन की ओर से लाहौल के लोगों को जीवन यापन के लिए सहायता दी जा रही है। प्रदेश के सबसे ठंडे इस इलाके के लोगों के लिए प्रशासन की ओर से मिट्‌टी का तेल और खाद्य पदार्थ दिए जा रहे है। रोहतांग टनल को बंद किए जाने के बाद लोग आ-जा नहीं पा रहे हैं। सड़क पर पड़ी बर्फ उनका रास्ता रोक रही है। इसी कारण प्रशासन की ओर से लोगों को सहायता दी जा रही है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना