चंडीगढ़ / बसों के टाइमटेबल को लेकर एचआरटीसी बस के चालक और निजी बस के परिचालक में खूनी झड़प



Clash between HRTC Bus Driver and Private Bus conductor over timetable of buses.
Clash between HRTC Bus Driver and Private Bus conductor over timetable of buses.
X
Clash between HRTC Bus Driver and Private Bus conductor over timetable of buses.
Clash between HRTC Bus Driver and Private Bus conductor over timetable of buses.

  • यह घटना मंडी-पठानकोट नेशनल हाईवे में उरला बस स्टॉप पर हुई
  • निजी बस के परिचालक ने एचआरटीसी के चालक और परिचालक की सरेआम धुनाई कर दी। वहीं चालक के कपड़े भी फाड़ दिए।

Dainik Bhaskar

Aug 03, 2019, 04:46 PM IST

पधर(मंडी). बसों के टाइमटेबल को लेकर शनिवार को एचआरटीसी बस के चालक और निजी बस के परिचालक के बीच बहस पहले हाथापाई और फिर खूनी झड़प में बदल गई।

 

वहां मौजूद लोगों के मुताबिक निजी बस के परिचालक ने एचआरटीसी बस के परिचालक से बद्तमीजी की और फिर धौंस जमाते हुए थप्पड़ जड़ दिए। इतने से मन नहीं भरा तो उसने एचआरटीसी के परिचालक की भी धुनाई कर दी।

 

यह खूनी झड़प एचआरटीसी की मनाली-पठानकोट बस के चालक और न्यू प्रेम बस सर्विस मनाली-पठानकोट के परिचालक के बीच हुई। वहीं दोनों बसें मनाली से पठानकोट जा रही थींं।

 

इस बीच यह घटना मंडी-पठानकोट नेशनल हाईवे में उरला बस स्टॉप पर हुई। उरला बस स्टॉप पर निगम के पठानकोट डिपो के बस चालक अनिल कुमार ने बस खड़ी कर निजी बस के चालक से गलत ढंग से ओवरटेक करने को लेकर बात शुरू ही की थी कि निजी बस का परिचालक बस से नीचे उतर कर सीधे ही मारपीट पर उतारू हो गया।

 

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार निजी बस का परिचालक अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए सरेआम अनाप शनाप गालियां देते हुए निगम के चालक और परिचालक पर टूट पड़ा। जिसका बस में बैठी सवारियों ने भी विरोध किया। लेकिन सरेआम गुंडागर्दी पर उतारू हुआ निजी बस का परिचालक किसी की बात नही माना।

 

निगम के चालक अनिल कुमार ने बताया कि निजी बस का चालक दो किलोमीटर पीछे कोटरोपी के पास तंग जगह में ओवरटेक कर रहा था। जिससे कोई भी बड़ा हादसा हो सकता था। निजी बस के परिचालक ने ऐसा एक नही अनेकों बार किया। जिस पर उरला बस स्टॉप में बस खड़ी कर के वह निजी बस के चालक से मामले को लेकर बात कर रहा था।


निजी बस का परिचालक बस से बाहर उतर कर सीधे मारपीट पर उतारू हो गया। जिसने एचआरटीसी के चालक और परिचालक की सरेआम धुनाई कर दी। वहीं चालक के कपड़े भी फाड़ दिए। मौके पर लोग बीच बचाव भी करते रहे लेकिन सरफिरा निजी बस का कंडक्टर सरेआम गुंडागर्दी पर उतर गया।


उल्लेखनीय है कि बसों की समयसारिणी को लेकर इससे पहले भी कई मामले इस तरह के उजागर हो चुके हैं। बसों के कंपीटिशन में कई चालक यात्रियों की जान को जोखिम में डाल कर मनमानी करते हैं। निगम के चालक अनिल कुमार और परिचालक बलविंदर ने मामले को लेकर आलाधिकारियों को अवगत करवाया।

 

वहीं पुलिस को मामले की सूचना दी। जबकि निजी बस के परिचालक ने भी पुलिस को शिकायत दी। वहीं निगम के जोगिंदरनगर डिपो के सीआई भी मौका पर पहुंच गए। पुलिस मौका पर आकर दोनों को मेडिकल के लिए सिविल अस्पताल पधर ले गई। जहां बाद में दोनों पक्षों में आपसी समझौता हो गया।

 

मामले की जांच कर रहे पधर पुलिस के एएसआई कुलमेश कुमार ने बताया कि दोनों पक्षों में आपसी समझौता हो गया है। ऐसे में दोनों बसों में सवार यात्रियों को भी दो घंटे से अधिक समय तक परेशानी झेलनी पड़ी। कुछ यात्री अन्य बसों में सवार होकर अपने गंतव्य को निकले। जबकि कुछ यात्री में बसों में ही बैठे रहे।

 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना