विधानसभा / एचआईवी की गलत रिपोर्ट देने से कोमा में जाकर हुई 22 वर्षीय महिला का मुद्दा सदन में गरमाया, सीएम ने 15 दिन में मांगी जांच रिपोर्ट



CM probes inquiry report in 15 days in death case of  22-year-old woman who went into a coma after getting false report
X
CM probes inquiry report in 15 days in death case of  22-year-old woman who went into a coma after getting false report

  • मुख्यमंत्री ने जांच रिपोर्ट में निजी क्लीनिक की गलत रिपोर्ट पर कार्रवाई का दिया आश्वासन
  • अवैध खनन की रोकथाम के लिए दिखाई सख्ती, साथ ही कहा पर्यावरण बचाने के लिए पूरी तरह से प्लास्टिक का इस्तेमाल हो बैन

Dainik Bhaskar

Aug 28, 2019, 04:49 PM IST

शिमला.  बुधवार को विधानसभा के मॉनसून सत्र में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने एचआइवी की गलत रिपोर्ट देने से 22 वर्षीय महिला की कोमा में जाने के बाद हुई मौत के मामले पर टिप्पणी की। इस संदर्भ में उन्होंने 15 दिन के अंदर जांच रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं।

 

रोहड़ू के कांग्रेस विधायक मोहनलाल ब्राक्टा ने पॉइंट ऑफ ऑर्डर के तहत जब यह मामला सदन में उठाया तो मुख्यमंत्री ने इसे गंभीरता से लेते हुए इसकी जांच के आदेश दिए। उन्होंने जांच रिपोर्ट में निजी क्लीनिक की गलत रिपोर्ट पर कार्रवाई का आश्वासन दिया।

बता दें कि रोहड़ू के अंतर्गत आते डोडरक्वार की यह महिला जांच के लिए प्राइवेट क्लीनिक में गई थी। 

 

यहां उसे एचआइवी पॉजिटिव बताकर शिमला स्थित आईजीएमसी रेफर किया गया। वहीं जब आईजीएमसी में इसकी जांच हुई तो महिला एचआइवी पॉजिटिव नहीं पाई गई। लेकिन एचआइवी पॉजिटिव होने की रिपोर्ट के सदमे से महिला कोमा में चली गई थी, जिसके बाद मंगलवार को आइजीएमसी में उसकी मौत हो गई।

 

पूर्व सैनिक कोटे में रिक्त 4265 पद जल्द भरे जाएंगे:

सदन में हिमाचल सैनिक कल्याण मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने प्रदेश में पूर्व सैनिक कोटे के चल रहे रिक्त 4265 पदों को जल्द-से-जल्द भरने का आश्वासन दिया है। इस दौरान उन्होंने बताया कि राज्य में जल्द ही सैनिक अकादमी बनने जा रही है। उन्होंने आगे कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि पूर्व सैनिकों के आश्रितों को भी उनके कोटे की समय रहते नौकरियां मिल सकें। मंत्री ने आगे कहा कि 16,18 या 20 साल की उम्र में सेना में भर्ती हो जाती है। 15 साल की नौकरी के बाद सेवानिवृत होने वाले सैनिकों की उनकी उम्र 32 से 35 साल होती है। इनके लिए गवर्नमेंट जॉब्स में में 15 प्रतिशत का रोस्टर जारी किया गया है। आर्मी में 15 साल की जॉब के बाद इन्हें इस बात का ज्ञान नहीं होता कि उनकी पात्रता किस पद के लिए है। इसके लिए अकादमी से सहयोग लिया जाएगा।

 

अवैध खनन को रोकने के लिए सरकार गंभीर:

इसके बाद सदन में अवैध खनन का मुद्दा गरमाया। सीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार किसी को भी रातोरात करोड़पति बनने की इजाजत नहीं देगी। सीएम ने बॉर्डर एरियाज में जारी अवैध खनन पर चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि सरकार अवैध खनन को लेकर गंभीर है। इसलिए इसे रोकने के लिए रात के 8 बजे से लेकर सुबह के 6 बजे तक ढुलाई पर रोक लगाई गई है। बता दें कि बुधवार को सीएम पर्यावरण में बढ़ रहे प्रदूषण के खतरे पर नियम 130 के तहत हुई चर्चाओं का जवाब दे रहे थे। उन्होंने प्लास्टिक के इस्तेमाल को पूरी तरह से रोकने को ही हल बताया। उन्होंने कहा कि कानून बनाने का फायदा तब तक नहीं जब तक लोग प्लास्टिक के उपयोग को रोजमर्रा के जीवन से बाहर नहीं करेंगे। बोले कि प्रदेश सरकार ने साल 2009 में ही प्लास्टिक बैग्स पर पूरी तरह से रोक लगाई थी पर आज भी प्रदेश के कई हिस्सों में इनका उपयोग देखा जा सकता है। 

 

पर्यावरण संरक्षण में और बेहतर काम करने पर सीएम ने दिया जोर: जयराम ने यह भी कहा कि पिछले साल ही सरकार ने थर्मोकोल के प्रयोग पर रोक लगा दी थी पर न केवल आम लोगों में, बल्कि राजनीतिक दलों की बैठकों और अन्य कार्यक्रमों में इनका धड़ल्ले से इस्तेमाल किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में पर्यावरण की स्थिति पर संतोष व्यक्त किया। पर साथ ही पर्यावरण संरक्षण में और बेहतर काम करने पर जोर दिया। उन्होंने प्रदेश के जंगलों को बचाने के लिए समाज, खासकर महिलाओं की भूमिका की सराहना की। सीएम ने दावा किया कि उनकी सरकार में अवैध वन कटान पर काफी हद तक रोक लगी है और पिछले डेढ़ वर्ष में अवैध कटान की कोई बड़ी घटना नहीं हुई।

 

Brief News - DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना