हिमाचल / गेस्ट हाउस में ठहरने वालों की जानकारी देना अनिवार्य, आदेश नहीं मानने पर होगी कार्रवाई

फाइल फोटो। फाइल फोटो।
X
फाइल फोटो।फाइल फोटो।

  • आइसोलेशन में न रहने वालों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा
  • आईपीसी की धारा-270 के तहत दो साल की सजा तथा जुर्माने का प्रावधान है

दैनिक भास्कर

Mar 16, 2020, 03:11 PM IST

धर्मशाला. बिना पंजीकरण संचालित किए जा रहे होम स्टे व गेस्ट हाउस में ठहरने वाले देशी-विदेशी पर्यटकों की सही जानकारी उपलब्ध न कराने पर संचालकों पर कार्रवाई की जाएगी। डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति ने कहा कि पड़ोसी क्षेत्रों में कोरोना वायरस के संदिग्ध मामले उजागर होने के पश्चात प्रदेश सरकार ने आवश्यक निर्देश दिए हैं।

सजा का प्रावधान

कोरोना के संदिग्ध व्यक्ति या उसके संपर्क में आए किसी भी व्यक्ति को स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार आइसोलेशन में रहना जरूरी होगा। अगर ऐसे व्यक्ति स्वास्थ्य जांच या आइसोलेशन में रहने से इनकार करते हैं तो उनके खिलाफ आईपीसी की धारा-270 के तहत दो साल की सजा तथा जुर्माने का प्रावधान है। 

अधिकारियों को लगाया गया

ऐसे मामलों में एसीटूडीसी, डीआरओ, सभी उपमंडलाधिकारी, कार्यकारी दंडाधिकारी, मेडिकल सुपरिटेंडट, परियोजना अधिकारी डीआरडीए, जिला पंचायत अधिकारी, जिला आयुर्वेदिक अधिकारी, उपमंडल आयुर्वेदिक अधिकारी, खंड चिकित्सा अधिकारियों को आदेश करने के लिए प्राधिकृत किया गया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना