हिमाचल / एएसपी मंडी व एएसपी विजिलेंस ऊना पर नशा तस्करों ने हमला कर किया घायल



X

  • गुप्त सूचना के आधार पर चरस तस्करों पर दबिश देने गई थी विजिलेंस टीम
  • लोगों ने विजिलेंस टीम के सदस्यों को हमलावरों के चंगुल से छुड़ाया
  • विजिलेंस जवानों और जमा हुए लोगाें ने हिम्मत दिखा दोनों तस्करों का धर दबोचा

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 05:56 PM IST

मंडी(पंकज पंडित). नशे की तस्करी करने वालों की हिम्मत तो देखिए। पकड़े जाने के डर से अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और एएसपी सहित पूरी विजिलेंस टीम पर हमला बोल दिया। राहगिरों ने पूरी टीम को तस्करों के चंगुल से बचाया और फिर उनपर काबू कर लिया गया। टीम पर हमला करके ये नशा तस्कर भागने की फिराक में थे।

 

यह हमला जिले के भौर में हुआ। इसमें अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कुलभूषण वर्मा और एएसपी विजिलेंस ऊना सागर चंद्र घायल हो गए। एएसपी विजिलेंस कुलभूषण वर्मा की टांग पर चोट आई है जबकि कांस्टेबल रोहित के सिर पर लोहे के रिंग से हमले के कारण चोट आई है।

 

वहां से गुजर रहे कुछ लोगों ने विजिलेंस टीम के सदस्यों को हमलावरों के चंगुल से छुड़ाया। विजिलेंस जवानों ने हिम्मत दिखा दोनों तस्करों का धर दबोचा। तस्करों से 3.934 किलोग्राम चरस बरामद हुई है। विजिलेंस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है।

 

बता दें कि मनाली-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे चरस का कारोबार होने की सूचना विजिलेंस को मिली थी। इसी गुप्त सूचना के आधार पर विजिलेंस टीम चरस तस्करों पर दबिश देने गई थी। पुलिस ने टेंपरेरी नंबर की स्कूटी व बिना नंबर के बुलेट सवार दोनों तस्करों को रोकने की कोशिश की तो उन्होंने भागने का प्रयास किया।

 

कुछ दूरी पर जाकर जवानों ने उन्हें दबोच लिया। इससे तैश में आकर दोनों ने एएसपी मंडी कुलभूषण वर्मा व एएसपी विजिलेंस ऊना सागर चंद्र पर हमला कर उन्हें और उनकी टीम को घायल कर दिया। आरोपी हेमराज और नारायण दास सगे भाई हैं और मंडी के अंतर्गत बल्ह के टांडा ढाबण के निवासी हैं।

 

विजिलेंस की ओर से इस संबध में सुंदरनगर में शिकायत करवाकर मामला दर्ज करवाया गया है। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए विजिलेंस की ओर से सुंदरनगर से पुलिस बल बुलाया गया था।

 

 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना