चुनाव / बर्फबारी होने के कारण लाहौल में वायु सेना के हेलीकाॅप्टरों से ईवीएम पहुंचाई



EVM machines sent through helicopters
EVM machines sent through helicopters
X
EVM machines sent through helicopters
EVM machines sent through helicopters

  • दुनिया का सबसे ऊंचा पोलिंग स्टेशन ताशीगंग है स्पीति में स्थापित

  • मतदान शांतिपूर्ण करवाने के लिए पुलिस को लगाया गया है
     

Dainik Bhaskar

May 16, 2019, 11:39 AM IST

मंडी(संजय सैनी). लाहौल स्पीति जिला प्रशासन ने हिमाचल प्रदेश में संसद चुनाव के लिए जिले के दूरस्थ और बर्फीले मतदान केंद्रों के लिए ईवीएम और अन्य चुनाव सामग्री के लिए भारतीय वायु सेना के हेलीकॉप्टरों की सेवाएं ली जा रही है। भारतीय वायु सेना के दो हेलीकॉप्टर जिला मुख्यालय केलोंग से ईवीएम और चुनाव सामग्री ली। जिले के स्पीति डिवीजन में 15256 फीट पर स्थित दुनिया के सबसे ऊंचे ताशींग मतदान केंद्र के लिए चुनाव सामग्री भी वायु सेना के हेलीकॉप्टर के माध्यम से पहुंचाई गई।

 

लिंगर पोलिंग बूथ हिमाचल प्रदेश का सबसे छोटा मतदान केंद्र है, जिसमें सिर्फ 37 मतदाता हैं। ये दोनों पोलिंग बूथ जिले के स्पीति डिवीजन में स्थित हैं। लाहौल - स्पीति विधानसभा क्षेत्र मंडी संसदीय क्षेत्र का हिस्सा है, जिसमें 23641 मतदाता हैं और भारत में संसद के चुनाव में अंतिम चरण के मतदान में 19 मई को मतदान करेंगे।

 

लाहौल - स्पीति जिला प्रशासन ने पहले ही सभी 92 मतदान केंद्रों, लाहौल में 69 और जिले के स्पीति मंडल में 23 मतदान केंद्रों की व्यवस्था कर दी है। जिले के कई इलाके अभी भी बर्फ से ढके हुए हैं और 13050 फीट की ऊंचाई पर स्थित रोहतांग पास में सबसे ज्यादा बर्फ गिरी है। दर्रे पर भारी हिमपात अभी भी जिले के मुख्य सड़क संपर्क पर वाहनों के आवागमन को रोक रहा है।

 

उपायुक्त लाहौल - स्पीति अश्वनी चौधरी ने कहा, "हमने जिले में मतदान के लिए सभी इंतजाम किए हैं और बोर्डर रोड्स ऑर्गनाइजेशन ने मनाली और रोहतांग सुरंग के माध्यम से अन्य क्षेत्रों में फंसे मतदाताओं के परिवहन की अनुमति दी है।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना