हिमाचल / इंवेस्टर्स मीट पर एक रुपए का इंवेस्टमेंट हुआ नहीं विपरीत इसके 4 हज़ार करोड़ रुपए ऋण लेकर काम चलाया: जीएस बाली



पत्रकारों को संबोधित करते पूर्व परिवहन मंत्री जीएस बाली पत्रकारों को संबोधित करते पूर्व परिवहन मंत्री जीएस बाली
X
पत्रकारों को संबोधित करते पूर्व परिवहन मंत्री जीएस बालीपत्रकारों को संबोधित करते पूर्व परिवहन मंत्री जीएस बाली

  • बाली बोले, मुख्यमंत्री की नियत ठीक हो सकती है लेकिन यह फ्लॉप शो रहा
  • प्रदेश की 15 प्रतिशत आबादी और 10 लाख बेरोजगारों को पूरी तरह नजरअंदाज किया गया

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2019, 05:47 PM IST

धर्मशाला. राइजिंग हिमाचल इंवेस्टर्स मीट के आयोजन पर सवाल उठाते हुए पूर्व परिवहन मंत्री जीएस बाली ने कहा कि पिछले दो साल में प्रदेश में एक रुपए का भी इंवेस्टमेंट नहीं हुआ है। विपरीत इसके सरकार ने 4 हजार करोड़ रुपए ऋण लेकर काम चलाया है।

 

उन्होेंने कहा कि इंवेस्टर मीट जल्दबाजी में आयोजित की गई। बिना सोचे समझे एक इवेंट की तरह इवेंट मैनजमेंट कंपनी को इसका जिम्मा सौंप दिया गया। प्रदेश की 15 प्रतिशत आबादी और 10 लाख बेरोजगारों को पूरी तरह नजरअंदाज किया गया।

 

यहां निर्मित होने वाला सीमेंट अन्य प्रदेशों से अधिक दामों पर बेचा जा रहा है। सरप्लस बिजली अन्य प्रदेशों को सस्ते दामों और प्रदेश के उद्योगों को महंगे दामों पर बेची जा रही है। सैंकड़ों करोड़ रुपया इंवेस्टर मीट पर खर्च किया गया और प्रदेश को कोई फायदा भी नहीं हुआ।

 

मुख्यमंत्री की नियत ठीक हो सकती है लेकिन यह फ्लॉप शो रहा। धर्मशाला के गगल में आईटी इंडस्ट्री लगाने की बात दो सालों से की जा रही है, लेकिन धरातल पर कुछ नहीं है। बाली ने कहा कि धर्मशाला में जो इंवेस्टर्स मीट हुई उसमें ब्रांड एंबेसडर तो वो होने चाहिए थे जो वास्तव में पहले से ही हिमाचल में निवेश कर रहे हैं। लेकिन उनमें से इस मर्तबा कोई भी नहीं दिखा।

 

इसके लिए उन्होंने विप्रो, रिलायंस उधोगिक घरानों का हवाला दिया। बाली ने कहा कि इस इंवेस्टर्स मीट से कुछ नया नहीं दिख रहा है,चूंकि कांग्रेस शासनकाल में भी इसमें से बहुत सारे निवेशक सामने आए थे। वही दोबारा से सामने दिखे। बोले, सरकार यह बताए कि उद्योग लगाने के लिए लैंड बैंक कहा है और धारा 118 में क्या संशोधन किया है।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना