दर्द / शहीद बेटे की प्रतिमा अब तक नहीं लगी,पिता बोले, ये कैसी श्रद्धांजलि



Father's request for martyr's statue
X
Father's request for martyr's statue

  • एसडीम से कहा-बेटे को दिए मेडल भी रख लो
  • रुलिया राम ने कहा- क्या यही शहीदों को श्रद्धांजलि है।

Dainik Bhaskar

Aug 08, 2019, 01:37 PM IST

पालमपुर. सैनिक के शहीद होने पर प्रशासन और सरकार उनके सम्मान में बड़े-बड़े वादे करती हैं लेकिन समय के साथ वादों की फाइलों पर धूल जमती जाती है। ऐसी ही वादाखिलाफी प्रशासन ने की है 1999 में शहीद हुए पालमपुर के अशोक चक्र विजेता मेजर सुधीर के परिवार के साथ।

 

इस बात से शहीद के पिता रुलिया राम नाराज हैं। इस संबंध में उन्होंने बुधवार को एसडीएम से मुलाकात की। अशोक चक्र सरकार को लौटाने की बात भी कही। शहीद की बहन आशा ने कहा कि प्रशासन ने उनके गांव में भाई की प्रतिमा स्थापित करने काे कहा था। 20 साल गुजर जाने के बाद भी आज तक प्रतिमा स्थापित नहीं हो सकी है। रुलिया राम ने कहा- क्या यही शहीदों को श्रद्धांजलि है।

 

अशोक चक्र समेत कई मेडल से नवाजे गए थे सुधीर
1988 में सुधीर वालिया फोर्थ बटालियन जाट रेजीमेंट में बतौर लेफ्टिनेंट भर्ती हुए। अशोक चक्र, सेना मेडल समेत कई सम्मानों से नवाजे गए थे। वे चीफ ऑफ आर्मी वीपी मलिक के ओएसडी भी रहे थे। 1997 में सियाचिन में सेवाएं देने के बाद 20 अगस्त 1999 को कुपवाड़ा में मुठभेड़ में 20 आतंकियों को ढेर करने के बाद शहीद हो गए थे।

 

इस बारे में एसडीएम, पालमपुर पंकज शर्मा ने कहा  कि सुधीर वालिया के परिजन उनकी प्रतिमा की स्थापना को लेकर मिले हैं। परिजनों द्वारा बताई गई सारी बात को सरकार के समक्ष रखा जाएगा। जल्द से जल्द उनकी मांग पूरी करने की कोशिश की जाएगी।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना