हिमाचल / आरक्षण को लेकर स्थिति साफ करे सरकार, दलित कार्ड से कर रहे हैं गुमराह: कांग्रेस नेता रजनी पाटिल

शिमला में पार्टी प्रभारी रजनी पाटिल और सुष्मिता देव ने मीडिया से बात की। शिमला में पार्टी प्रभारी रजनी पाटिल और सुष्मिता देव ने मीडिया से बात की।
X
शिमला में पार्टी प्रभारी रजनी पाटिल और सुष्मिता देव ने मीडिया से बात की।शिमला में पार्टी प्रभारी रजनी पाटिल और सुष्मिता देव ने मीडिया से बात की।

  • पाटिल ने कहा- एक तरफ भाजपा उत्तर प्रदेश, बिहार में दलित के नाम पर वोट मांगती हैं और दूसरी ओर न्यायालय में इसे लेकर अलग दलील देती है
  • उन्होंने यह भी कहा- देश में संविधान पर आक्रमण हो रहा है, यह भाजपा और संघ की सोची समझी साजिश

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2020, 09:44 PM IST

शिमला. प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने केंद्र की भाजपा सरकार पर आरक्षण के मुद्दे पर राजनीति करने का आरोप लगाया है। पार्टी के नेताओं ने केंद्र की भाजपा सरकार पर संविधान के अनुसार एससी/एसटी आरक्षण को समाप्त करने का प्रयास करने का आरोप लगाया। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस इसका विरोध करेगी।

शिमला में संयुक्त पत्रकार वार्ता के दाैरान पाटिल और अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने कहा कि कांग्रेस ने सब प्लान में एससी व एसटी की जनसंख्या के आधार पर बजट का प्रावधान किया था। लेकिन केंद्र सरकार ने इसे समाप्त कर दिया है।

वहीं, सुष्मिता देव ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार को एससी/एसटी आरक्षण को लेकर अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। साथ ही उन्होंने इस मुद्दे को लेकर भाजपा पर दोहरा मापदंड अपनाने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि एक ओर पार्टी उत्तर प्रदेश व बिहार में दलित के नाम पर वोट मांगती है और दूसरी ओर न्यायालय में इसे लेकर अलग दलील देती है। उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस ने इस मुद्दे को संसद में उठाया तो इसको लेकर संबंधित मंत्री ने झूठ बोला।

कांग्रेस इस मंत्री के खिलाफ संसद में विशेषाधिकार के हनन का प्रस्ताव लाएगी। देश में संविधान पर आक्रमण हो रहा है तथा भाजपा व आरएसएस एक सोची समझी साजिश के तहत संविधान को डायलूट कर रही हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना