हिमाचल / विविधता के कारण हिमाचल प्रदेश निवेश के लिए सर्वश्रेष्ठ गंतव्यः पीयूष गोयल



राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय काे कांगड़ा पेंटिंग भेंट करते सीएम जयराम ठाकुर, साथ में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय काे कांगड़ा पेंटिंग भेंट करते सीएम जयराम ठाकुर, साथ में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर
X
राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय काे कांगड़ा पेंटिंग भेंट करते सीएम जयराम ठाकुर, साथ में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुरराज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय काे कांगड़ा पेंटिंग भेंट करते सीएम जयराम ठाकुर, साथ में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर

  • हिमाचल सरकार ने 93 हजार करोड़ निवेश क्षमता के 614 एमओयू हस्ताक्षरित किए

Dainik Bhaskar

Nov 08, 2019, 07:18 PM IST

धर्मशाला. राइजिंग हिमाचल ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट के समापन समारोह को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि हिमाचल प्रदेश की विविधता राज्य को निवेश के लिए सर्वश्रेष्ठ गंतव्य बनाती है। यह उद्यमियों के लिए राज्य सरकार की निवेश अनुकूल नीतियों से ही संभव हो पाया है।

 

इस सम्मेलन में बड़ी संख्या में उद्यमियों की सहभागिता दर्शाती है कि हिमाचल प्रदेश ने विकास की दिशा में एक ऊंची उड़ान भरी है और विकास पथ पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। बोले- इससे न केवल भारत, बल्कि विश्वभर से निवेश के दरवाजे खुलेंगे।

 

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने निवेशकों को आकर्षित करने और सुविधाएं प्रदान करने के उद्देश्य से कई नीतियां अधिसूचित की हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार हिमाचल प्रदेश को उद्योग, आयुष, ऊर्जा, पर्यटन, कृषि, अधोसंरचना और संबंधित क्षेत्र में निवेश के आदर्श राज्य बनाने का प्रयास कर रही है।

 

इसके लिए औद्योगिक और निवेश नीति, पर्यटन नीति, फिल्म नीति, सूचना प्रौद्योगिकी नीति, आयुष नीति और ऊर्जा नीति अधिसूचित की गई हैं जिसके अंतर्गत सर्वश्रेष्ठ प्रोत्साहन दिए जा रहे हैं।

 

उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री और उद्योगपतियों का धन्यवाद करते हुए निवेशकों को हिमाचल प्रदेश में निवेश करने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने आश्वासन दिया कि राज्य निवेशकों की हर संभव मदद करेगा।उन्होंने कहा कि उद्यमियों को आसानी से जमीन उपलब्ध कराने के लिए भूमि बैंकों की स्थापना की गई है।

 

बोले कि राज्य सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि सभी हस्ताक्षरित एमओयू जल्द से जल्द धरातल पर लागू हों। बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को इस ग्लोबल इंवेस्टर्स मीट का उद्घाटन किया था। ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट में करीब 1710 निवेशक आए थे जिनमें से 200 के लगभग विदेशी निवेशक थे।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना