धंधा / माइनिंग को लेकर राम कुमार का मुकेश अग्निहोत्री पर निशाना, कहा-खुद ही थोक में लीज देकर नाटक कर रहे पूर्व मंत्री



Leaders take charge against Himachal Mining
X
Leaders take charge against Himachal Mining

  • भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि माइनिंग का हिस्सा न मिलने से पूर्व मंत्री हल्ला कर रहे है
  • 2013 से 17 तक कांग्रेस शासन में मुकेश अग्रिहोत्री की बदौलत माइनिंग लीज 10 से बढ़कर 78 तक पहुंच गई

Dainik Bhaskar

Jul 14, 2019, 01:20 PM IST

ऊना. प्रदेश में चल रहे माइनिंग के खेल को लेकर सत्तापक्ष की ओर से कांग्रेस के पूर्व मंत्री पर आरोप लगाए जाने लगे है। ऊना के एक स्थान पर चल रही माइनिंग के दौरान जब पुलिस पार्टी पहुंची थी तो उन पर हमला करने की कोशिश की गई थी। जब इस स्थान पर हो रही माइनिंग की खबर सामने आई तो एक दूसरे पर आरोप के हमले तेज हो गए है।

 

प्रदेश उद्योग निगम के राज्य उपाध्यक्ष व भाजपा प्रवक्ता प्रो. राम कुमार ने कहा कि 2013 तक जिला ऊना में कुल 10 माइनिंग लीज प्रदेश की विभिन्न सरकारों द्वारा दी गई थी। 2013 से 17 तक कांग्रेस शासन में मुकेश अग्रिहोत्री की बदौलत माइनिंग लीज 10 से बढ़कर 78 तक पहुंच गई।

उन्होंने कहा कि स्वां नदी का सीना छलनी करने की बात करने वाले मुकेश अग्निहोत्री न भूलें उनके द्वारा ही हरोली को 27 व ऊना को 25 लीज दी गई है। इससे साफ है कि मुकेश अग्निहोत्री ने अपने कार्यकाल के दौरान ही खनन माफिया को जमकर संरक्षण दिया। मुकेश माफिया के सरगना है।

 

शनिवार को ऊना में पत्रकार वार्ता के दौरान प्रो. राम कुमार ने कहा कि प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद जिला में केवल सात माईनिंग लीज दी गई है। नेता प्रतिपक्ष द्वारा ही ऊना में न केवल खनन माफिया को खड़ा किया गया, बल्कि शैल्टर भी दिया गया।

 

प्रो. राम कुमार ने कहा कि ऊना सदर में 25 लीज कांग्रेस कार्यकाल के दौरान दिए गए थे, इस पर जब पुलिस ने कड़ी कार्रवाई की तो, कांग्रेस के नेता ने पुलिस अधीक्षक का घेराव किया था। इस मौके पर देसराज राणा, दर्शन भदौड़ी, रविंद्र जसवाल, अर्जुन सिंह, अशोक छेत्रां, राजीव राणा व कमल सैणी सहित अन्य उपस्थित रहे।

 

प्रो. राम ने कहा कि कांगड़ के पूर्व प्रधान विनोद बिट्टू कांगड़ में जिस माइनिंग लीज को लेकर शोर मचा रहा है और इसकी बात नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री कर रहे हैं। उस माइनिंग लीज की एनओसी पूर्व प्रधान विनोद बिट्टू ने दी और मुकेश अग्निहोत्री ने इसे अनुमति दी थी। हैरानी की बात तो यह है कि प्रधान विनोद बिट्टू स्वयं ही एनओसी दे रहा है और स्वयं ही माइनिंग लीज में 15 फीसदी का हिस्सा डाल रहा है। बिट्टू व मुकेश बताएं कि 15 फीसदी का शेयर किस अकाउंट से दिए है।

 

उन्होंने आरोप लगाया कि हरोली व ऊना में जहां पर क्रेशर व लीज होती थी, वहां पर मुकेश अग्निहोत्री द्वारा तय बिट्टू व पप्पू का गैर कानूनी शेयर होता था। भाजपा सरकार आने के बाद अब बिट्टू को हिस्सा न मिलने पर उसे तकलीफ होने लगी है।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना