निवेश / सीएम ने ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट के लिए विश्व के निवेशकों व व्यापार संघों को आमंत्रित किया



Ministry of External Affairs will assist in investing in Himachal
X
Ministry of External Affairs will assist in investing in Himachal

  • निवेश के लिए विदेश मंत्रालय बनेगा फेसिलिटेटर
  • मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने वीरवार को नई दिल्ली में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 11:44 AM IST

शिमला. धर्मशाला में प्रस्तावित ग्लोबल इन्वेस्टर मीट को सफल बनाने के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने नई दिल्ली में 50 देशों के राजनयिकों के साथ बैठक की। विदेश मंत्रालय के तत्वावधान में आयाेजित इस बैठक में प्रदेश में निवेश की संभावनाओं के बारे में विस्तार से चर्चा की गई।

 

मुख्यमंत्री ने उनसे आग्रह किया गया कि वे अपने-अपने देश के उद्यमियों, निवेशकों और व्यापार संघों को हिमाचल में अपनी पसंद के क्षेत्र में प्राथमिकता के आधार पर निवेश करने के लिए प्रेरित व सहयोग करें।

 

विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरण ने कहा कि धर्मशाला में 7 व 8 नवंबर को होने वाली ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट में पूरे विश्व के निवेशकों व व्यापार संघों को आमंत्रित किया जाना राज्य सरकार की एक अनूठी व अनुकरणीय पहल है। विदेश मंत्रालय इसमें फेसिलिटेटर की भूमिका निभाएगा। उन्होंने जयराम ठाकुर के विजन व राज्य सरकार की नीतियों की सराहना की। उन्होंने कहा कि धर्मशाला में वैश्विक इन्वेस्टर मीट आयोजित होने से राज्य में पर्यटन को भी नए पंख लगेंगे।

 

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने वीरवार को नई दिल्ली में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। उन्होंने हिमाचल में सैन्य हवाई अड्डे की स्थापना की मांग उठाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि सशस्त्र बलों व सैन्य अभियान के लिए चंडीगढ़ के अतिरिक्त इस क्षेत्र में कोई भी रक्षा हवाई अड्डा उपलब्ध नहीं है, जिसके अभाव में किसी विपरीत स्थिति से निपटना कठिन है।

 

उन्होंने कहा कि सामरिक दृष्टि से महत्त्वपूर्ण जिला मंडी में एक रक्षा हवाई अड्डे की स्थापना करना आवश्यक है। इस हवाई अड्डे को नागरिक उद्देश्य के लिए भी प्रयोग में लाया जा सकता है, जिससे प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और राज्य की आर्थिक भी समृद्ध होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने मंडी जिला में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए नागचला में 3479 बीघा भूमि चिन्हित की है।

 

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण नई दिल्ली की टीम द्वारा निरीक्षण व सर्वेक्षण कर लिया है। सर्वेक्षण के बाद इस स्थान को हवाई पट्टी की स्थापना के लिए उपयुक्त पाया है। उन्होंने कहा कि जिला मंडी प्रदेश के सभी स्थलों के केंद्र में पड़ता है।

 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना