हिमाचल / ठंड से दो लोगों की मौत, 70 से अधिक पंचायतों का संपर्क तीसरे दिन भी मुख्यालय से कटा रहा

हरिपुरधार में लोगों को पैदल यात्रा करनी पड़ रही हरिपुरधार में लोगों को पैदल यात्रा करनी पड़ रही
बिजली कर्मचारी तारों को ठीक करने में लगे बिजली कर्मचारी तारों को ठीक करने में लगे
X
हरिपुरधार में लोगों को पैदल यात्रा करनी पड़ रहीहरिपुरधार में लोगों को पैदल यात्रा करनी पड़ रही
बिजली कर्मचारी तारों को ठीक करने में लगेबिजली कर्मचारी तारों को ठीक करने में लगे

  • हरिपुरधार-शिलाई मार्ग को छोटे वाहनों के लिए लोनिवि ने खोला
  • बिजली आपूर्ति शुरू होने में अभी दो से तीन दिन लग सकते हैं

दैनिक भास्कर

Jan 11, 2020, 12:07 PM IST

हरिपुरधार. गिरिपार और कुपवी क्षेत्र की 70 से अधिक पंचायतों का संपर्क तीसरे दिन भी शेष हिमाचल से कटा रहा। कई इलाकों में तीन फीट से अधिक बर्फ जमा होने के कारण लोक निर्माण विभाग को सड़कें खोलने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। शुक्रवार को हरिपुरधार-शिलाई मार्ग को छोटे वाहनों के लिए विभाग ने खोल दिया है। आज शाम तक सोलन-मिनस मार्ग पर भी यातायात बहाल होने की संभावनाएं जताई जा रही हैं।

हरिपुरधार-नाहन मार्ग पर यातायात बहाल होने में अभी तीन से चार दिन का समय ओर लग सकता है। हालांकि लोग निर्माण विभाग शनिवार दोपहर बाद तक इस सड़क पर यातायात बहाल करने का दावा कर रहा है। हरिपुरधार-कुपवी मार्ग पिछले पांच दिन से बंद है। इस सड़क पर दियूड़ी और खड़ांह के बीच तीन फीट से अधिक बर्फ जमी हुई है। इस सड़क को भी खोलने के लिए अभी एक सप्ताह का समय ओर लग सकता है।

ठंड से दो लाेगों की मौत

प्रदेश में इस समय शीतलहर चल रही है जिससे ठंड काफी ज्यादा हो गई है। कई जिलों का तापमान माइनस से नीचे चला गया है। ठंड के कारण दो लोगों के मारे जाने की सूचना है। जानकारी के अनुसार संजौली के तिब्बती कॉलोनी के 76 साल का एक बुजुर्ग सड़क पर फिसलन होने के कारण फिसल कर गिर गया जिससे उसके सिर में चोट लगी और उसकी मौत हो गई।

दूसरे मामले में ठियोग के रहने वाले एक 23 वर्षीय युवक अजय की ठंड से मौत हो गई। अजय ठंड से बचने के लिए बंद पड़े ढाबे में दुबक गया था । रात भर उसे ढाबे में किसी तरह से ठंड से राहत नहीं मिली जिसके कारण उसकी मौत हो गई। ढाबे मालिक ने सुबह जब अजय की लाश देखी तो पुलिस को सूचना दी।


20 से 25 किलोमीटर चलना पड़ रहा है पैदल 

हरिपुरधार की सभी प्रमुख सड़कें बंद होने के कारण लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र में  पौष त्योहार शुरू हो गया है। लोग त्योहार मनाने के लिए दूर-दूर से अपने घर पहुंच रहे हैं। सड़कें बंद होने के कारण लोगों को अपने घर पहुंचने के लिए 20 से 25 किलोमीटर का सफर पैदल चलकर तय करना पड़ रहा है।

बर्फबारी के कारण शिमला-शिलाई, नाहन-कुपवी, हरिपुधार-लवाणधार समेत क्षेत्र की सभी प्रमुख सड़कें बंद पड़ी हुई है। हालांकि लोनिवि ने सड़कें खोलने के लिए जेसीबी मशीनें लगाई, लेकिन बर्फबारी अधिक होने और कोहरा जमने से बसें नहीं चल पा रही है।

बिजली आपूर्ति होने में दो से तीन दिन लगेंगे

भारी बर्फबारी के कारण चाढ़ना 33 केवी लाइन के कई स्थानों पर क्षतिग्रस्त होने के कारण हरिपुरधार, नौहराधार, गात्ताधार व कुपवी क्षत्र की 100 से अधिक पंचायतों के करीब एक हजार गांव पिछले तीन दिन से अंधेरे में डूबे हुए हैं। बिजली बोर्ड के कर्मचारियों ने पनाेग फीडर को हरिपुरधार तक बहाल कर दिया है। बिजली बोर्ड के कर्मचारी हरिपुरधार को 33 केवी लाइन शिलाई से भी जोड़ने के प्रयास कर रहे हैं, मगर सब स्टेशन पर लोड अधिक होने के कारण तीन दिन बाद भी हरिपुरधार क्षेत्र में बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हो पाई है।

राजगढ़ और चाढ़ना के बीच 33 केवी लाइन के खंबे व तारें कई स्थानों पर टूट गए हैं। विद्युत कर्मचारी विपरीत परिस्थितियों में लाइन की मरम्मत का कार्य युद्धस्तर पर कर रहे हैं। इसके बावजूद 33 केवी लाइन चाढ़ना से बिजली आपूर्ति बाहल करने में अभी 2 से 3 दिन का समय ओर लग सकता है। यदि हरिपुरधार को शिलाई से नहीं जोड़ा गया तो अगले दो तीन-दिन तक हरिपुरधार क्षेत्र के लोगों को बिजली की समस्या से ओर जूझना पड़ सकता है।

पीने का पानी का संकट गंभीर 

भारी बर्फबारी के कारण अधिकतर पेयजल लाइनें जाम हो गई हैं। हरिपुरधार बाजार की पेयजल लाइनें पिछले तीन दिन से जाम हैं। बाजार-वासी फिलहाल बर्फ पिघलाकर काम चला रहे हैं। लोगों को न तो नहाने के लिए पानी मिल रहा है और न ही कपड़े धोने के लिए पानी उपलब्ध हो रहा है। लोगों को सबसे अधिक समस्या शौचालय में पानी न होने से आ रही है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना