निर्णय / एनजीटी की कमेटी ने की सिफारिश, कुल्लू-मनाली में व्यावसायिक कंस्ट्रक्शन काे किया जाए बैन



National Green Tribunal bans all constructions in Manali
X
National Green Tribunal bans all constructions in Manali

  • कमेटी ने एनजीटी काे साैंपी रिपाेर्ट, 29 जुलाई काे एनजीटी में हाेगी केस की अगली सुनवाई
  • कमेटी ने मनाली में सभी तरह के निर्माण कार्य पर पूर्णत: राेक लगाने की सिफारिश की है

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 12:10 PM IST

शिमला. कुल्लू-मनाली में कैरिंग कपैसिटी का पता लगाने के लिए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल(एनजीटी) की ओर से गठित की गई कमेटी ने अपनी रिपाेर्ट वीरवार काे एनजीटी काे साैंप दी है। कमेटी ने मनाली में सभी तरह के निर्माण कार्य पर पूर्णत: राेक लगाने की सिफारिश की है जबकि कुल्लू में आवासीय और सरकारी कार्यालयाें के निर्माण की छूट दिए जाने की सिफारिश की है।

 

कमेटी ने कुल्लू में व्यावसायिक गतिविधियाें पर भी राेक लगाने की सिफारिश की है। वीरवार काे एनजीटी में कुल्लू मानी की कैरिंग कपैसिटी काे लेकर कमेटी ने अपनी रिपाेर्ट साैंपी है। रिपाेर्ट स्टडी करने के लिए एनजीटी ने इस केस की सुनवाई की डेट 29 जुलाई तक के लिए बढ़ा दी है।

 

साेमवार 29 जुलाई काे एनजीटी कुल्लू मनाली में कैरिंग कपैसिटी काे लेकर अपना काेर्ई निर्णय ले सकता है। कमेटी ने 9 मुख्य बिंदुओं पर अपनी रिपाेर्ट साैंपी में इसमें ग्राउंड वाटर, पार्किंग, सड़क, निर्माण और सीवरेज सहीत पानी और हवा की शुद्धता काे लेकर रिपाेर्ट तैयार की गई है।

 

कमेटी ने यहां पर घटते भूमिगत जल के दाेहन पर राेक लगाने के लिए बाेरवेल न लगाने की भी सिफारिश की है। ट्रैफिंग की समस्या काे दूर करने के लिए लाेक निर्माण विभाग काे आवश्यकतानुसार सड़क काे चाैंडा करने की सिफारिश की है।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना