हिमाचल / पिछले महीने 28 अगस्त तक 320,अब 17 दिन में 610 ने अप्लाई किया डीएल



डेमो फोटो डेमो फोटो
X
डेमो फोटोडेमो फोटो

  • नए एमवी एक्ट लागू होने से पहले अवेयर होने लगे लोग
  • जिन इलाकों में पहले लाइसेंस लोग नहीं बनवाते थे वहां अब बनवा रहे है

Dainik Bhaskar

Sep 15, 2019, 12:05 PM IST

शिमला. प्रदेश में नए एमवी एक्ट के लागू हाेने से पहले ही लाेगाें में ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए उत्साह देखा जा रहा है। चालान से बचने के लिए लाेग अब पहले से ज्यादा लाइसेंस बनाने में दिलचस्पी दिखा रहे हैं। पिछले अगस्त महीने में 28 अगस्त तक करीब 320 आवेदकों ने लर्निंग और परमानेंट लाइसेंस बनाने केे लिए आरटीओ शिमला में अप्लाई किया था।

 

इसके बाद अब तक महज 17 दिन में 610 एप्लीकेशन लाइसेंस बनाने के लिए आ चुके है। सबसे ज्यादा आवेदन लर्निंग लाइसेंस के लिए करीब 395 आए हैं। इसके अलावा परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए भी 215 आवेदन आए है।

 

जिला शिमला में भी लाेगाें में लाइसेंस बनाने काे लेकर खासा क्रेज देखा गया है। आनी, रामपुर और राेहडू में भी सैकड़ाें आवेदन लाइसेंस बनाने के लिए परिवहन विभाग के पास आ रहे हैं। हालांकि, अभी प्रदेश में नया एमवी एक्ट लागू नहीं हुआ है, इसके बावजूद लाेग लाइसेंस बनाने के लिए खासी दिलचस्पी दिखा रहे हैं।

इसे कानून का डर कहें या जागरुकता ज्यादा लोग बनवाने लगे अब लाइसेंस
लाइसेंस बनाने के लिए आवेदन करने वालाें में सबसे ज्यादा संख्या युवाओं की हैं। अब इसे कानून का डर कहें या फिर जागरुकता, लाेगाें में ड्राइविंग लाइसेंस बनाने में इन दिनाें खासा उत्साह देखने काे मिल रहा है।

 

इससे पहले लर्निंग लाइसेंस बनाने के लिए लाेग काफी कम अप्लाई करते थे। इसी तरह परमानेंट लाइसेंस बनाने के लिए साल के बाद या छह महीने के बाद अप्लाई किया जाता था। जबकि अब एक महीने लर्निंग लाइसेंस बनने के बाद ही परमानेंट लाइसेंस के लिए लाेग अप्लाई कर रहे हैं।

 

अब एक हजार से 5 हजार हाेगा चालान बिना ड्राइविंग लाइसेंस के चालान अब एक हजार से बढ़ाकर पांच हजार कर दिया गया है। ऐसे में बिना लाइसेंस के वाहन चलाना अब महंगा पड़ेगा। सीधा आपकी जेब से पांच हजार रुपए चालान के कटेंगे। सीट बेल्ट नहीं लगाने पर 100 रुपए से एक हजार, बिना इंश्योरेंस ड्राइविंग करने पर एक हजार से दाे हजार, ड्राइविंग के वक्त मोबाइल पर बात करने पर एक हजार से पांच हजार रुपए, ड्रंकन ड्राइविंग पर 500 से सीधा 10 हजार रुपए चालान किया गया है।

 

जुगाड़ से लाइसेंस बनना मुश्किल

अगर आप किसी जुगाड़ से ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का सोच रहे हैं तो अब इसकी राह मुश्किल होगी। लाइसेंस बनाने के लिए नियम को कड़ा कर दिया है। अब जो भी आवेदक लाइसेंस बनाने जाएगा, उसकी पहले वीडियोग्राफी होगी। यानी की लाइसेंस बनाते समय आवेदक का टेस्ट, हस्ताक्षर और उसके द्वारा जमा किए सभी दस्तावेजों की जांच होगी। रिकॉर्ड चेक किया जाएगा। इसके बाद वीडियो बनाई जाएगी। जो भी लाइसेंस बनाने के लिए जाएगा उसके पास अपना वाहन होना भी जरूरी है।

 

एमवीआई बोले लाइसेंस बनाने का इतना क्रेज नहीं देखा
परिवहन विभाग के एमवीआई समीर दत्ता का कहना है कि उन्हाेंने अपने कैरियर में इस तरह का लाइसेंस बनाने का लाेगाें में उत्साह नहीं देखा। लाेग लाइसेंस बनाने के लिए अब पहले से ज्यादा आवेदन कर रहे हैं। आनी में आज तक काेई भी लाइसेंस बनाने नहीं आ रहे थे। वहां 140 के करीब ड्राइविंग लाइसेंस एक ही दिन में बने।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना