हिमाचल / सरकारी मदद शाम तक मिलने की खबर पर पैदल ही घरों की ओर निकले जोत में फंसे लोग

चंबा के जोत नामक स्थान पर लोग बर्फबारी में फंस गए। आज सुबह वे पैदल निकल गए चंबा के जोत नामक स्थान पर लोग बर्फबारी में फंस गए। आज सुबह वे पैदल निकल गए
X
चंबा के जोत नामक स्थान पर लोग बर्फबारी में फंस गए। आज सुबह वे पैदल निकल गएचंबा के जोत नामक स्थान पर लोग बर्फबारी में फंस गए। आज सुबह वे पैदल निकल गए

  • विभाग ने बर्फबारी के बाद कुछ जिलों में भूकंप की चेतावनी दी
  • राज्य परिवहन की बसें फंसी रही, बिजली भी रही गुल

दैनिक भास्कर

Dec 15, 2019, 02:41 PM IST

चंबा. पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही बर्फबारी के कारणों लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। पिछली रात चंबा जिले के जोत नामक स्थान पर बर्फबारी के कारण कुछ लोग फंस गए। स्थानीय नागरिक व कुछ पर्यटक यहां होटलों में रूके हुए है। 

बर्फबारी होने से सड़क पर बर्फ जमने की सूचना प्रशासन को दी गई थी। जिस पर आश्वासन मिला था कि बर्फ हटाने की मशीनरी शाम तक पहुंच सकती है। इस पर रविवार सुबह मौसम साफ हाेने और तेज धूप को देखते हुए लोग पैदल ही अपने गंतव्य की ओर निकल गए। जोत में 15 से अधिक लोग फंसे थे जिनमें से कुछ महिलाऐं भी थी। यहां पर काफी संख्या में वाहन भी बर्फ में फंस गए है। करीब चार फीट से ज्यादा बर्फ होने के कारण लोग रात को यहां रूक गए थे।

भूकंप की चेतावनी दी

मौसम विभाग ने 15 व 16 दिसंबर को किन्नौर, कुल्लू व लाहुल स्पीति जिलों में हिमस्खलन की चेतावनी जारी की है। लोगों को घरों से बाहर न निकलने की सलाह दी गई है। चंबा के उपायुक्त विवेक भाटिया ने तीसा, पांगी, भरमौर सहित ऊपरी इलाकों में 15 दिसंबर को हिमस्खलन की चेतावनी जारी की है।

बसों के पहिए रहे जाम

प्रदेश में छह राष्ट्रीय राजमार्गों सहित 431 सड़कें बंद रहीं। विभिन्न स्थानों पर परिवहन निगम (एचआरटीसी) की करीब 54 बसें फंसी रहीं। एचआरटीसी के करीब 200 रूट प्रभावित हुए। 1200 से अधिक ट्रांसफार्मर बंद होने से कई जगह बिजली आपूर्ति बाधित रही। कई गांवों में अंधेरा छाया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना