बदहाल / ऐसी सड़क से सेब की ढुलाई, जहां ठेकेदार के अधूरे छोड़े काम से धंसी सड़क में पलटा सेब से लदा ट्रक

Road condition in Himachal is pathetic
X
Road condition in Himachal is pathetic

  • पीडब्ल्यूडी-ठेकेदारों की ऐसी लापरवाही से ही होते हैं बड़े सड़क हादसे
  • न एसई को पता न ही एएसपी को जाम की सूचना

दैनिक भास्कर

Aug 09, 2019, 11:55 AM IST

शिमला. ये तस्वीरें सेब काे हैदराबाद ले जाते हुए पलटे हुए ट्रक की ही नहीं है बल्कि ये तस्वीरें प्रदेश की आर्थिकी में 4 हजार करोड़ का कॉन्ट्रीब्यूशन देने वाले सेब के कारोबार के प्रति व्यवस्था की लगातार होती अनदेखी की भी है। ये तस्वीरेंं सेब सीजन के लिए तैयार किए गए मैहली-शोघी सड़क के उस ठेकेदार की गैर जिम्मेदारी की हकीकत भी बयां कर रही है जिसने बड़ागांव के पास कल्वर्ट लगाने का काम अधूरा छोड़ दिया।

 

ये तस्वीरें लोक निर्माण विभाग के उन अफसरों की अनदेखी की भी हैं जिन्होंने ये चेक करना जरूरी नहीं समझा कि ठेकेदार ने कल्वर्ट लगाने का काम तय डेडलाइन में पूरा नहीं किया। रोजाना ढली बायपास से मैहली-शोघी बायपास पर सेब के 300 ट्रकों का आना जाना है। लेकिन सेब से भरे ये ट्रक ऐसी सड़क से भेजे जा रहे हैं जिस पर कई जगह ट्रक निकलने लायक जगह ही नहीं बची है।

 

कौन देगा दोहरा मुआवजा

ट्रक पलटने से न सिर्फ ट्रक मालिक का नुकसान हुआ बल्कि सेब खरीदने वाले आढ़ती केशव चौहान के नुकसान का मुआवजा कौन देगा। इस ट्रक में लदी 728 पेटियों की कीमत 10 लाख थी। पलटा हुआ ट्रक मालिक ने तीन महीने पहले ही खरीदा। ट्रक मालिक के 70 लाख के नुकसान की भरपाई कौन करेगा। आढ़ती केशव चौहान का कहना है कि इस नुकसान की वजह सिर्फ सड़कें हैं।

 

सड़कें सेब कारोबार को पहुंचा रही बड़ा नुकसान

शिमला जिला प्रशासन हर बार सेब सीजन से पहले सड़कों को ठीक करने का दावा करता है। लेकिन अंदाजा लगा सकते हैं कि जब शिमला शहर में ही सड़कों का ये हाल है तो ऊपरी शिमला में सड़कों की क्या हालत होगी।
ट्रक ड्राइवर शीतल की लापरवाही से नहीं बल्कि कल्वर्ट का काम अधूरा होने से पलटा ये ट्रक।

 

ढली सब्जी मंडी से 728 पेटी सेब लेकर चला ये ट्रक बड़ागांव के पास पलट गया। ये ट्रक ड्राइवर शीतल सिंह की लापरवाही से नहीं बल्कि सिर्फ इसलिए पलट गया कि इस जगह पर डाली जा रही कल्वर्ट का काम ठेकेदार अधूरा छोड़ गया। कल्वर्ट बनाने के लिए एक तरफ जमीन खोदी गई थी तो ऊपर की तरफ ट्रक निकलने के लिए जगह इतनी कम थी ट्रक बड़ी मुश्किल से निकल पा रहे थे। बुधवार देर रात ये ट्रक भी यहां से गुजर रहा थो तो नीचे कल्वर्ट बनाने के लिए खोदी गई जमीन बारिश की वजह से ट्रक का बोझ नहीं सह पाई और ट्रक पलट गया।

 

28 किमी में ट्रैफिक पुलिस का काम सिर्फ चालान करना
ढली बायपास से शोघी के बीच 28 किमी में ट्रैफिक पुलिस कहीं देखने को नहीं मिलती। जिस सड़क से रोजाना 700 ट्रकों की आवाजाही है, उस सड़क पर पुलिस कहीं भी नहीं है। इस सड़क पर कई जगह लंबे जाम लग रहे हैं। सेब कारोबारियों का सेब को टाइम पर मंडी में पहुंचाना मुश्किल हो गया है। ट्रकों का ईंधन और वक्त बर्बाद हो रहा है। ट्रैफिक पुलिस के दो लोग ढली टनल और शोघी से तो ट्रैफिक इस बायपास पर डायवर्ट कर रहे हैं लेकिन बीच सड़क में कोई हादसा या जाम लगे तो यहां कोई नहीं।
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना