कोरोनावायरस / हिमाचल में विजिटर्स के आने पर रोक, बस स्टॉप से लेकर प्रदेश सचिवालय को किया गया सैनिटाइज

सिंबोलिक इमेज सिंबोलिक इमेज
X
सिंबोलिक इमेजसिंबोलिक इमेज

  • राज्यपाल ने कोविड-19 से जुड़े दिशा-निर्देशों का पालन करने के निर्देश दिए

दैनिक भास्कर

Mar 20, 2020, 05:59 PM IST

शिमला. हिमाचल में भी काेराेनावायरसर का डर साफ देखा जा रहा है। गुरुवार से प्रदेश सचिवालय में भी सैनिटाइजेशन का काम शुरू हुआ। दाेनाें भवनाें के गेट पर सभी विजिटर्स काे सैनिटाइजर से हाथ साफ करने के लिए सैनिटाइजर दिए जा रहे हैं। प्रदेश सरकार ने बीते दिनाें विजिटर्स पर राेक लगा दी है, लेकिन कुछ लाेग जरूरी कार्याें के लिए यहां आ रहे हैं। हिमाचल प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन ने कोरोनावायरस के दृष्टिगत गुरुवार से आम जनता के लिए मास्क की बिक्री आरंभ कर दी है।

यह मास्क प्रदेश के स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार किए जा रहे हैं। मुख्य सचिव अनिल खाची के निर्देश पर मास्क उपलब्ध करवाने की यह परियोजना आरंभ की गई है, ताकि सभी लोगों को मास्क उपलब्ध करवाए जा सकें। मास्क राज्य सचिवालय स्थित राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन की दुकान में उपलब्ध हैं। इन मास्क को बिना बुने हुए कपड़े से तिहरी परत में तैयार किया गया है, ताकि वायरस से सुरक्षा सुनिश्चित हो सके। इस परियोजना की अगुआई ग्रामीण विकास विभाग के सचिव डाॅ. आरएन बत्ता और ग्रामीण विकास विभाग के निदेशक ललित जैन ने की, जिन्होंने बाजार में मास्क की बढ़ती मांग को देखते हुए प्राथमिकता के आधार पर 24 घंटों के भीतर यह सुविधा आरंभ की।

डाॅ. आरएन बत्ता ने सचिवालय स्थित मिशन की दुकान से इन मास्क का शुभारंभ किया। मास्क का मूल्य 12 रुपए निर्धारित किया गया है। विभाग के एक प्रवक्ता ने कहा कि आम जनता के लिए पर्याप्त मात्रा में मास्क तैयार किए जाएंगे और जिन्हें भी आवश्यकता होगी, उन्हें मास्क की आपूर्ति की जाएगी। विभाग ने मास्क की मांग करने वाले लोगों के लिए एक नोडल व्यक्ति को नियुक्त किया है। लोग मोबाइल नंबर 81948-90099 पर सम्पर्क कर सकते हैं।


राजभवन में पढ़ाया जागरुकता का पाठ

राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने वीरवार काे राजभवन के सभी अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्हें कोविड-19 से जुड़े दिशा-निर्देशों का समय-समय पर पालन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जागरुकता ही इस वायरस का सर्वोत्तम समाधान है, क्योंकि इस वायरस से जागरूकता से ही बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि हमें अपने परिवार और समाज में भी जागरुकता पैदा करनी होगी और स्वच्छता बनाए रखने और हाथ धोने पर विशेष ध्यान देना होगा। इस अवसर पर आईजीएमसी शिमला के चिकित्सक डाॅ. विमल भारती ने कोरोना वायरस से बचने के लिए विभिन्न एहतियाती उपायों के बारे में जानकारी दी।


परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर के सभी बसों को सैनिटाइज कर रवाना करने के निर्देश
कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए बस अड्डों में बसों को रोज सैनिटाइज किया जा रहा है। दिन में तीन बार बस अड्डों को सैनिटाइज किया जा रहा है निजी बसों को भी सेनेटाइज करने के निर्देश जारी किए गए हैं। ऑटो चालकों व टैक्सी चालकों को भी मास्क उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। इन्हें भी विभाग द्वारा सेनेटाइजर प्रदान किए जाएंगे। बस अड्डों पर लाउड स्पीकरों के माध्यम से बसों की सफाई को लेकर बार-बार एनाउंसमेंट की जा रही है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना