कार्रवाई / फोरलेन की कटिंग से राजडी-जाबली स्कूल का एक हिस्सा गिरा, प्रशासन ने अनसेफ किया घोषित



School building unsafe
School building unsafe
X
School building unsafe
School building unsafe

  • करीब 450 बच्चों के स्कूल को शिफ्ट करने के लिए तलाशा जा रहा भवन
  • प्रशासन के अधिकारियों ने स्कूल का दौरा किया और एक बिल्डिंग को असुरक्षित बताया

Dainik Bhaskar

Mar 24, 2019, 01:16 PM IST

जाबली. परवाणू-सोलन नेशनल हाईवे-5 पर बन रहे फोरलेन की कटिंग से सीनियर सेकंडरी स्कूल राजडी-जाबली का एक हिस्सा गिरना शुरू हो गया है। पिछली रात करीब एक बजे हुए लैंड स्लाइड से स्कूल का मैदान और स्टेज गिर कर हाईवे पर पहुंच गया है।

 

प्रशासन ने स्कूल के एक भवन को असुरक्षित घोषित कर दिया है और इसे तुरंत खाली करने के आदेश दिए हैं। स्कूल को शिफ्ट करने के लिए भवन की तलाश की जा रही है। स्कूल में करब 450 बच्चे पढ़ते हैं।

 

लैंड स्लाइडिंग से राजडी-जाबली स्कूल का एक हिस्सा गिर गया। गनीमत रहा कि इससे हाईवे पर गुजर रहे वाहनों को कोई नुकसान नहीं हुआ। इस कारण नेशनल हाईवे पर रात को दो घंटे तक जाम लगा रहा। हाईवे पुलिस ने रात को मौके पहुंच कर जाम खुलवाया।

 

स्कूल भवन को बार-बार लैंड स्लाइड से हो रहे खतरे के कारण जिला प्रशासन द्वारा असुरक्षित घोषित करने के बाद एनएचआई की टीम ने स्कूल की वैल्यूएशन निकाल कर इसके मुआवजे के लिए रिपोर्ट बनानी शुरू कर दी है। एनएचएआई की ओर से स्कूल का दौरा किया गया।

 

बच्चों के पेरेंट्‌स ने आरोप लगाया है कि बच्चों की परीक्षाएं चल रही थी तब खतरे को जानकर भी फोरलेन कंपनी ने काम को चलाए रखा। एनएचएआई को भी दी इसकी जानकारी फिर भी नहीं रोका गया काम।

 

जिला प्रशासन की ओर से एसडीएम सोलन रोहित राठौर व तहसीलदार कसौली केशव तोमर मौके पर पहुंचे। स्थानीय पंचायत प्रधान दुनी चंद धीमान, विनय, स्कूल प्रिंसिपल, एसएमसी प्रधान, भुपेंद्र ठाकुर, जगमोहन, सदानंद, पूर्ण चंद,व ओमप्रकाश, योगेंद्र ने मौके पर आए प्रशासनिक अधिकारियों को मौके की स्थिति से अवगत कराया।

 

मौके को देखते हुए व स्कूल में पढ़ने वाले वाले बच्चों के भविष्य को लेकर एसडीएम ने स्कूल को असुरक्षित घोषित किया। प्रिंसिपल कार्यालय व सुपरिटेंडेंट कार्यालय और उसके ऊपर बने भवन को तुरंत खाली करने के आदेश दीवार पर चिपकाए गए हैं। साथ ही लैंड स्लाइड के खतरे को भांपते हुए पूरे कैंपस को शिफ्ट करने के मौखिक आदेश दिए।

 

अब स्थानीय लोगों को चिंता सता रही की स्कूल कहां चलेगा। लोगों ने कहा कि जब स्कूल में बोर्ड की वार्षिक परीक्षा हो रही थी, तब भी फोरलेन निर्माण कंपनी ने स्कूल के नीचे कार्य नहीं रोका। इस दौरान लोग बार-बार स्कूल को खतरे की बात कह रहे थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना