मौसम / हिमाचल में जानलेवा हुआ माॅनसून अब तक 23 लाेगाें की माैत, 9 एनएच और प्रदेश की 877 सड़कें बंद



मंडी में बहे वाहन मंडी में बहे वाहन
X
मंडी में बहे वाहनमंडी में बहे वाहन

  • शिमला में सबसे ज्यादा 11 लाेगाें की मौत
  • 24 अगस्त तक प्रदेश में सक्रिय रहेगा मॉनसून
  • 1154 पावर प्रोजेक्ट बंद, 2300 मेगावाट बिजली उत्पादन बंद
     

Dainik Bhaskar

Aug 19, 2019, 11:40 AM IST

शिमला. प्रदेश में मानसून अब जानलेवा हाे चुका है। बीते 24 घंटाें के दाैरान हुई भारी बारिश से प्रदेश में 23 लाेगाें की माैतें हुई हैं। सबसे ज्यादा मौतें शिमला जिले में हुई हैं, जहां 11 लाेगाें काे अपनी जान से हाथ धाेना पड़ा है। कुमारसैन सब डिविजन के तहत आने वाले कुनथूरू गांव में एक पेड़ के गिरने से दाे नेपाली मूल के लाेगाें की माैत हाे गई।

 

ठियाेग में तीन लाेगाें के खड्ड में बहने से माैत हो गई। शिमला में कुल 11 मौतों के अलावा साेलन में 5, बिलासपुर में 1, कुल्लू में 3, सिरमाैर में1, चंबा में 2 लोगों की मौत हुई है। रोहडू़ में सीमा और बडियारा के बीच बाइक पर जा रहे युवक पर पत्थर गिरने से उसकी मौत हो गई।

 

भारी बारिश के कारण प्रदेश में 59 घर बारिश की भेंट चढ़ गए है। बारिश से 9 एनएच सहित 877 सड़कें बंद हैं।

 

1154 पावर प्रोजेक्ट बंद, 2300 मेगावाट बिजली उत्पादन बंद
भारी बारिश से हिमाचल में 2300 मेगावाट की 1154 जल विद्युत परियोजनाएं में उत्पादन ठप हाे गया है। इसमें सभी प्रमुख नाथपा-झाकडी, लारजी, भावा विद्युत परियोजाएं शामिल है।

 

परियाेजनाओं में पानी घुसने और सिल्ट की समस्याएं आने से बिजली उत्पादन बंद हाे गया है। प्रदेश में ब्लैक आउट की स्थिति न हो इसके लिए बिजली बोर्ड ने बाहरी राज्यों बैंकिग प्रणाली के जरिए बिजली अतिरिक्त प्रंबध कर दिया है। प्रदेश मेंं कहीं भी बिजली की दिक्कत पेश नहीं आएगी।

 

चंडीगढ़-मनाली एनएच शनिवार रात से बंद
चंडीगढ़-मनाली एनएच रात से बंद है और दवाड़ा में पानी एनएच पर 5 फीट ऊपर बह रहा है जिससे यहां बड़े वाहन फंसे हुए हैं। बारिश के चलते बाया कटौला रोड भी बंद हो गया था जिसे दोपहर बाद हल्के वाहनों के लिए बहाल किया गया है।

 

पठानकोट से मंडी नेशनल हाईवे में भी उरला से लगभग तीन किलोमीटर पीछे भलाना के पास पहाड़ी से पेड़ और मलबा आने से हाई वे कुछ समय के लिए बाधित है। वहीं मैगल के समीप पहाड़ी दरकने से थोड़ी देर वाहनों की रफ्तार रुकी। सुबह लगभग दस बजे से नेशनल हाईवे यातायात सुचारू हुआ।

 

डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर ने प्रभावित क्षेत्राें का दौरा कर लोगाें से सतर्क रहने की अपील की है। वहीं दूसरी तरफ मंडी- पठानकोट नेशनल हाईवे मैगल में रात से बंद था, सुबह दस बजे बहाल किया गया। चंडीगढ़-मनाली एनएच बड़ोल अाैर दवाडा में रात से बंद है।
 

ये हाईवे अभी भी बंद
एनएच 22 टापरी के पास अभी भी बंद है। इसी तरह एनएच 21 स्वारघाट नाैणी कैंचीमाेड बिलासपुर मार्ग भी बंद है। एनएच 72 बी पांवटा साहिब शिलाई के पास बंद है। एनएच 305 सैंज जलाैडी बंजार मार्ग बंद है। एनएच 70-21 मंडी-मनाली डवाडा अाैर थलाेट के पास बंद है। एनएच 154 ए चंबा भरमाैर बंद है। एनएच 705 हाटकाेटी मार्ग बंद है। सड़काें काे बहाल करने के 153 मशीनरी काे लगाया गया है। इसमें 127 जेसीबी, 6 डाेजर और 20 लाेडर शामिल है।

 

24 अगस्त तक सक्रिय रहेगा मॉनसून

माैसम विभाग ने पूर्वानुमान जारी करते हुए 24 अगस्त तक प्रदेश में सभी जगह मॉनसून के सक्रिय रहने का पूर्वानुमान जारी किया है। आज भी प्रदेश के मैदान और मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्राें में भारी बारिश हाेने का पूर्वानुमान जारी किया है।

 

बारिश में अलग अलग जगहाें पर फंसे 739 लाेगाें में से 582 काे किया रेस्क्यू
भारी बारिश से प्रदेश में अलग अलग जगहाें पर 739 लाेग फंसे थे। इनमें से बचाव दल द्वारा 582 लाेगाें काे रेस्क्यू कर बचा लिया गया है। इसमें बिलासपुर में 35, लाहाैल स्पीति काेकसर में 700 और साेलन में चार लाेगाें के बारिश में फंसने की घटना घटी है।

 

भारी बारिश के कारण कालका-शिमला हैरिटेज ट्रैक पर जगह-जगह मलबा और पेड़ गिरने से रविवार को रेल ट्रैफिक बूरी तरह प्रभावित हुआ है। एक ट्रेन कालका से शिमला की ओर आई भी उसे धर्मपुर में होल्ड करना पड़ा जबकि बाकी सभी ट्रेनों को रद्द कर दिया। इसके साथ ही शिमला के तारादेवी में लैंड स्लाइड होने से एनएच-5 सोलन-शिमला के बीच दो घंटे बंद रहा।

 

1065 फीसदी ज्यादा बारिश

प्रदेश में 24 घंटे के भीतर में रिकाॅर्ड 1065 प्रतिशत अधिक बारिश हुई है। माैसम विभाग के मुताबिक 18 अगस्त काे हिमाचल में 8.8 मिमी बारिश हाेनी चाहिए थी, पर यहां पर 102.5 मिमी बारिश दर्ज की गई है। माॅनसून के साथ प्रदेश में पश्चिमी विक्षाेभ भी सक्रिय हाे गया। इससे हवा में ऊपरी दबाव व पश्चिमी दबाव के बढ़ने से हिमाचल में भारी बारिश हुई है।

 

 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना