हिमाचल / एबीवीपी के नेतृत्व में स्टूडेंट्स का मूक प्रदर्शन, सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हिमाचल प्रदेश के स्‍थायी कैंपस की उठाई मांग

सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हिमाचल प्रदेश धर्मशाला के धौलाधार कैम्पस में स्टूडेंटस ने रोष प्रदर्शन किया सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हिमाचल प्रदेश धर्मशाला के धौलाधार कैम्पस में स्टूडेंटस ने रोष प्रदर्शन किया
X
सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हिमाचल प्रदेश धर्मशाला के धौलाधार कैम्पस में स्टूडेंटस ने रोष प्रदर्शन कियासेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हिमाचल प्रदेश धर्मशाला के धौलाधार कैम्पस में स्टूडेंटस ने रोष प्रदर्शन किया

  • स्टूडेंटस का कहना गर्ल्स के लिए कोई कॉमन रूम नहीं
  • स्टूडेंटस ने कहा अगर मांगें न मानी तो उग्र प्रदर्शन किया जाएगा

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2020, 03:52 PM IST

धर्मशाला. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हिमाचल प्रदेश धर्मशाला के धौलाधार कैम्पस में गुरुवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के नेतृत्व में स्टूडेंट्स ने मुंह पर काली पट्टी बांध कर मूक प्रदर्शन किया। इस दौरान छात्र छात्राओं ने प्रदेश की जयराम सरकार और विश्वविद्यालय प्रशासन से जल्द स्थायी कैंपस निर्माण की मांग उठाई।

इस दौरान एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर आरोप भी लगाए। बताया गया कि यूनिवर्सिटी के तीनों कैंपस देहरा, शाहपुर और धर्मशाला में स्टूडेंट्स को ढेरों असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है। वहीं तीनों परिसरों में गर्ल्‍स कॉमन रूम की व्यवस्था नहीं होने के कारण छात्राओं को बाहर बैठना पड़ता है।

इसके अलावा छात्रों ने सभी परिसरों में कैंटीन ना होने का मुद्दा भी उठाया। प्रदर्शन के दौरान विद्यार्थी परिषद के इकाई अध्यक्ष नरेंद्र ने कहा अगर विश्वविद्यालय प्रशासन जल्द मांगों को पूरा नहीं करता है तो विद्यार्थी परिषद कक्षाओं का बहिष्कार कर उग्र आंदोलन करेगी। वहीं मांगों के लिए शुक्रवार को एक दिन की सांकेतिक भूख हड़ताल की जाएगी। इसके बावजूद भी सीयू प्रबंधन मांगों को अनदेखा करता है तो सोमवार को सीयू के तीनों कैंपस में शिक्षा का पूर्ण बहिष्कार कर उग्र आंदोलन किया जाएगा। नरेंद्र ने आगे कहा कि हम स्‍थायी कैंपस निर्माण की मांग लेकर काफी समय से संघर्षरत हैं।

2010 में सीयू की कक्षाएं शुरू हुई थीं लेकिन अब तक स्‍थायी परिसर का निर्माण नहीं हो पाया है। गौरतलब है कि केंद्रीय विश्‍वविद्यालय की घोषणा 2006 में की गई थी। इस दौरान घोषित अन्‍य विश्‍वविद्यालय के कैंपस बनकर तैयार हो गए और वहां सभी कोर्स भी पढ़ाए जाने लगे लेकिन हिमाचल प्रदेश का केंद्रीय विवि का निर्माण कार्य अभी भी मझधार में अटका हुआ है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना