हिमाचल / 12 घंटे मनाली-लेह एनएच, डेढ़ घंटे बंद रहा कालका-शिमला फोरलेन, कई स्थानों पर स्नोफॉल हुआ



मनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहन मनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहन
मनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहन मनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहन
मनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहन मनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहन
मनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहन मनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहन
X
मनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहनमनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहन
मनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहनमनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहन
मनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहनमनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहन
मनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहनमनाली में हुई स्नोफॉल के बाद निकलते वाहन

  • रातभर हुई बर्फबारी व लैंड स्लाइड के कारण लोगों को परेशानी
  • बारालाचा में लेह मार्ग बंद, कोकसर में 150 से अधिक वाहन निकाले

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 01:55 PM IST

मनाली. रोहतांग दर्रे में रातभर बर्फबारी जारी रहने से बुधवार को 12 घंटे रोहतांग मार्ग वाहनों के लिए अवरुद्ध रहा। बंद हुए मार्ग के कारण मनाली के गुलाबा व लाहौल के कोकसर में वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। वहीं कालका-शिमला फोरलेन पर लैंड स्लाइड होने के कारण डेढ़ घंटे यातायात ठप रहा।

 

बीआरओ ने कोकसर से सड़क की बहाली शुरू करते हुए रोहतांग के उस पार राहनीनाला तक सड़क से बर्फ हटाई। बर्फ हटाते ही कोकसर में रुके 150 से अधिक वाहन शाम तीन बजे मनाली की ओर निकल आए। मनाली की ओर प्रशासन ने पहले वाहनों को गुलाबा में रोका लेकिन मौसम साफ होता देख प्रशासन ने वाहनों को मढ़ी तक जाने की अनुमति दे दी।

 

कोकसर से आने के बाद मढ़ी में रुके 100 से अधिक वाहनों ने लाहौल का रुख किया। रोहतांग दर्रा आर पार करने वालो को कोकसर व मढ़ी में घंटों इंतजार करना पड़ा। उधर, लेह मार्ग में बारालाचा दर्रे में हुई बर्फबारी के चलते वाहनों की आवाजाही बंद है।

 

दूसरी ओर शिंकुला दर्रे में भी बर्फबारी होने से दारचा शंकुला जांस्कर मार्ग में वाहनो की आवाजाही फिलहाल बन्द पड़ा है। लेह जाने वाले अधिकतर वाहन दारचा में रुके हैं, लेह से आने वाले वाहन सरचू से आगे नहीं बढ़ पाए हैं।


बुधवार को रोहतांग दर्रे का ब्यासनाला सैलानियों के स्नो प्वाइंट बन गया। 300 से अधिक पर्यटक वाहनो ने ब्यासनाला में दस्तक दी। दिन के समय कुछ समय के लिये ब्यासनाला में आसमान से बर्फ के फाहे भी गिरे। मनाली एसडीएम रमन घरसंगी ने बताया कि मौसम को देखते हुए सैलानियों को पहले गुलाबा तक ही भेजा गया लेकिन मौसम खुलने के बाद उन्हें मढ़ी तक जाने की अनुमति दे दी।

 

धौलाधार की पहाड़ियों में हिमपात होने से निचले इलाकों में बढ़ी ठंड...
जिले के दुर्गम क्षेत्रों के अलावा धौलाधार की शिवालिक पहाड़ियों के ऊपरी क्षेत्रों में हल्का हिमपात होने से निचले इलाकों में ठंड बढ़ गई है। कांगड़ा के अधिकतर क्षेत्रों में बारिश और ओलावृष्टि होने की सूचना है। बुधवार शाम पर्यटन स्‍थल डलहौजी में भी ओलावृष्टि हुई है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के विशेषज्ञों ने बुधवार को राज्य के कुछ स्थानों में वर्षा की संभावना जताई थी।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना