स्नोफॉल / मौसम ने फिर ली करवट, धौलाधार में बर्फबारी



Snowfall in Dhauladhar, temperature falls.
X
Snowfall in Dhauladhar, temperature falls.

  • त्रियुंड से लेकर बिलिंग तक हर ओर बर्फ ही बर्फ
  • पूरी कांगड़ा घाटी में ठंड हुई प्रचंड

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 04:32 PM IST

धर्मशाला. मौसम के करवट बदलने से धौलाधार की पहाड़ियों में हुई बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश से समूची कांगड़ा घाटी प्रचंड शीतलहर की चपेट में आ गई है। मौसम के इस मिजाज से खासकर मैक्लॉडगंज और साथ लगते क्षेत्रों धर्मकोट, नड्डी, भागसूनाग और धर्मशाला में जोरदार ठंड पड़ने से एक बार फिर से आम जनजीवन प्रभावित हुआ है। धौलाधार पर्वत श्रृंखला के दो पर्यटक स्थलों त्रियुंड व बिलिंग ने एक बार फिर से बर्फ की चादर ओढ़ी है। गुरुवार सुबह से ही धौलाधार में बर्फबारी का सिलसिला शुरू है। इस दौरान कांगड़ा जिला के कई मैदानी क्षेत्रों में बारिश भी हो रही है। इससे तापमान में गिरावट आई है।

इसके अतिरिक्त रोहतांग दर्रे सहित पहाड़ियों में बर्फ के फाहे गिरने का दौर जारी है। मौसम विभाग द्वारा दी गई अधिक बर्फ़बारी की चेतावनी के बाद प्रशासन अलर्ट पर है। प्रदेश में 19 फरवरी तक मौसम खराब रह सकता है। मौसम विभाग की चेतावनी के बाद आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने 15 फरवरी के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। इसका अर्थ है कि लोग मौसम से संबंधित जानकारी से अपडेट रहें। मौसम से संबंधित किसी प्रकार की मुसीबत से बचने के लिए प्रशासन और प्रचार प्रसार माध्यमों के तहत संपर्क बनाए रखें।

प्रदेश में 241 सड़कें बंद

पिछले दिनों हुई बारिश और बर्फबारी के कारण प्रदेश में अब तक 241 सड़कें बंद हैं। इन सड़कों पर यातायात बहाल करने के प्रयास किए जा रहे हैं। हालांकि गुरुवार सुबह के समय मनाली व लाहुल घाटी में बादलों के बीच हल्की धूप भी खिली लेकिन एक बार फिर मौसम ने करवट बदली ओर घाटी में घने बादल छा गए। लाहुल में लगातार हो रही बर्फ़बारी से लोगों की दिक्कतेें बढ़ गई हैं। मौसम खराब रहने से हवाई सेवा भी शुरू नहीं हो पाई है। बर्फ के कारण लोग घरों से बाहर भी नहीं निकल पा रहे हैं और हवाई सेवा न मिलने से घाटी में कैद होकर रह गए है। सुबह हल्की धूप के बीच सैलनियों ने पर्यटन स्थलों का रुख किया और बर्फ़ीले खेलों का आनंद उठाया। पर्यटक वाहन हालांकि सोलंगनाला नही पहुंव रहे है। पर्यटक वाहन सोलंग से 2 किमी पहले ब्यास पुल व नाग मन्दिर के पास रुक रहे हैं। प्रशासन ने सैलानियों को नेहरुकुण्ड सहित पलचान व सोलंग जाने की अनुमति दी है। मनाली एसडीएम रमन घरसंगी में बताया की मौसम विभाग की चेतावनी के बाद प्रशासन अलर्ट है। प्रशासन मौसम की परिस्थितयों पर नजर रखे हुए है। सैलनियों को सोलंगनाला तक भेजा गया है।

 

COMMENT