हिमाचल / आईजीएमसी हॉस्टल में शराब पीते पकड़े स्टूडेंट्स, दाे परमानेंट हाॅस्टल से निकाले, 3-3 माह के लिए तीन सस्पेंड



Students holding drinkers at IGMC
X
Students holding drinkers at IGMC

  • दाे इंटर्नस और तीन एमबीबीएस थर्ड ईयर के छात्र शामिल, डिसिप्लिन कमेटी के पास पहुंचा मामला
  • वार्डन और स्टूडेंट्स के बयान किए गए दर्ज

Dainik Bhaskar

Jun 16, 2019, 02:54 PM IST

शिमला. इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज(आईजीएमसी) हाॅस्टल में शनिवार देर रात पांच स्टूडेंट्स वार्डन ने शराब पीते हुए पकड़े गए। यह सभी इकट्ठे बैठकर शराब पी रहे थे। इसमें दाे इंटर्नस और तीन एमबीबीएस थर्ड ईयर के छात्र शामिल हैं। मामला प्रशासन के पास पहुंचा ताे तुरंत प्रधानाचार्य ने मामले में डिसिप्लिन कमेटी काे केस साैंप दिया।

 

कमेटी ने भी तुरंत मामले की बैठक बुलाई। छात्राें काे कमेटी के सामने पेश किया गया। वार्डन और स्टूडेंट्स के बयान दर्ज किए गए। कमेटी ने पाया कि स्टूडेंट्स हाॅस्टल में शराब पी रहे थे। उन्हाेंने तुरंत कार्रवाई करते हुए दाे स्टूडेंट्स काे हाॅस्टल से परमानेंट निष्कासित कर दिया, जबकि तीन अन्य स्टूडेंट्स काे 3-3 माह के लिए हाॅस्टल से सस्पेंड किया है। इसके लिए स्टूडेंट्स के परिजनाें काे भी सूचित किया गया है।

 

 

हाॅस्टल में रहने के लिए प्रशासन की ओर से कुछ नियम तय किए गए हाेते हैं। इसके अनुसार स्टूडेंट्स काे खाने से लेकर साेने तक की टाइमिंग तय की जाती है। इसके अलावा शराब के सेवन पर पूरी तरह से प्रतिबंध हाेता है हाॅस्टल के अंदर किसी भी तरह के हथियार व नशे का सामान रखने पर पूरी तरह से राेक हाेती है। ऐसे में अब सवाल यह भी उठ रहा है कि आईजीएमसी हाॅस्टल के भीतर शराब कहां से आई और इसे वहां पर किसने पहुंचाया।

 

आईजीएमसी के प्रधानाचार्य डाॅ. रवि शर्मा ने बताया कि हाॅस्टल में पांच स्टूडेंट्स काे शराब पीते हुए पकड़ा गया था। इसमें दाे इंटर्नस और तीन एमबीबीएस थर्ड ईयर के स्टूडेंट्स शामिल हैं। जानकारी मिलते हुए डिसिप्लिन कमेटी काे बिठा दिया गया था।  हाॅस्टल में किसी भी तरह की काेताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 

COMMENT