पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Swami Anand Tathagata, Founder Of Osho Nisarg Himalaya Meditation Center Dharamshala Dies In Lucknow After Prolonged Illness.

लंबी बीमारी के बाद ओशो निसर्ग हिमालय ध्यान केंद्र धर्मशाला के संस्थापक स्वामी आनंद तथागत का लखनऊ में निधन

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्वामी आनंद तथागत की ओशो की दृष्टि में पहला प्रदर्शन 1970 में हुआ
  • ओशो निसर्ग हिमालय ध्यान केंद्र धर्मशाला की कल्पना हिमालय में ओशो के निवास स्थान के रूप में की गई है
  • बॉलीवुड कलाकार एवं पूर्व सांसद विनोद खन्ना के सहयोग से इस केंद्र का निर्माण किया था

धर्मशाला. ओशो निसर्ग हिमालय ध्यान केंद्र धर्मशाला के संस्थापक स्वामी आनंद तथागत का लंबी बीमारी के बाद शुक्रवार देर शाम लखनऊ में निधन हो गया है। स्वामी आनंद तथागत पिछले कुछ वर्ष से असाध्य रोग से पीड़ित थे।


25 अक्टूबर 1949 को जन्में स्वामी आनंद तथागत का असली नाम अशोक कुमार था। वह फार्मास्यूटिकल पेशेवर के रूप में काम कर रहे थे, जो उन्होंने 1984 तक जारी रखा। स्वामी आनंद तथागत की ओशो की दृष्टि में पहला प्रदर्शन 1970 में हुआ।


इसके बाद ओशो की पुस्तकों को पढ़ना उनका प्यार और जुनून बन गया। वर्ष 1984 में उनके जीवन में एक महत्वपूर्ण मोड़ तब आया जब वह पुणे आए और ओशो के नव सन्यास में लीन हो गए। ओशो के विश्व दौरे से पुणे लौटने के बाद नवंबर 1988 में ओशो ने उन्हें कम्यून-इन-चार्ज की जिम्मेदारी सौंपी।


ओशो नव सन्यास के प्रमुख सन्यासी के रूप में उन्हें पहचाना जाता रहा है। वर्ष 2000 में धर्मशाला में आने के बाद ओशो निसर्ग हिमालय ध्यान केंद्र धर्मशाला की कल्पना हिमालय में ओशो के निवास स्थान के रूप में की गई। स्वामी आनंद तथागत ने इसके निर्माण के लिए जोश भरा। इसके साथ ही उनका ओशो ध्यान और चिकित्सा के विभिन्न तरीकों से समृद्ध होता रहा जो पुणे में ओशो कम्यून और ओशो निसर्ग ध्यान केंद्र धर्मशाला में उपलब्ध हैं।


स्वामी आनंद तथागत और मां योग नीलम ने 1999 में पुणे का कम्यून छोड़ दिया था। वे इनर सर्कल (21 सदस्यों का समूह) का हिस्सा थे। वर्ष 2000 में ओशो की निजी सचिव रही मां नीलम व स्वामी आनंद तथागत द्वारा पूणे के ओशो कम्यून के विघटन के बाद बॉलीवुड कलाकार एवं पूर्व सांसद विनोद खन्ना के सहयोग से धर्मशाला के शिल्ला गांव में ओशो निसर्ग हिमालय ध्यान केंद्र धर्मशाला का निर्माण किया था।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें