असुविधा / राशन कार्ड में दर्ज मोबाइल नंबर लेकर जाएं डिपो तभी मिलेगा राशन, पोस मशीनें पड़ी ठप



डिपुओं में लगी पोस मशीन बता रही लाईसेंस एक्सपायर्ड डिपुओं में लगी पोस मशीन बता रही लाईसेंस एक्सपायर्ड
X
डिपुओं में लगी पोस मशीन बता रही लाईसेंस एक्सपायर्डडिपुओं में लगी पोस मशीन बता रही लाईसेंस एक्सपायर्ड

संकट में उपभोक्ता, अाधार सर्वर बंद होने से लोग काट रहे डिपो के चक्कर

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2019, 03:27 PM IST

हमीरपुर. राज्य में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत डिपुओं में बॉयोमिट्रिक्स सिस्टम से राशन उपभोक्ताओं को देने का कार्य ठप पड़ गया है। इन डिपुओं में लगाई गई प्वांइट ऑफ सेल (पोस) मशीनों में लाइसेंस एक्सपायर्ड बताया जा रहा है।

 

आधार सर्वर बंद होने से यह समस्या गंभीर इसलिए होने लगी है, क्योंकि 10 तारीख होने के बाद भी कई डिपो खाली पड़े हुए हैं। उपभोक्ता वहां राशन कोटे लेने के लिए चक्कर लगाने को विवश हैंं।


जहां जिन डिपुओं में राशन की सप्लाई पहुंची है, वहां दूसरे ऑप्शन के तहत यदि किसी उपभोक्ता को राशन लेने जाना है तो उसे वही मोबाइल नंबर ले कर डिपो में जाना होगा, जो उसने अपना राशन कार्ड बनाने के समय नंबर दिया होगा।

 

क्योंकि इन मशीनों में दूसरे ऑप्शन के तहत ओटीपी मोड पर डिपो में राशन लेती बार सीधा ओटीपी उसी मोबाइल नंबर पर आएगा और उस ओटीपी नंबर के आधार पर ही राशन के कोटे की पेमेंट कट सकेगी।

 

हालांकि दो अन्य ऑप्शन तो मशीनों में और भी हैं, लेकिन कई डिपो धारकों को उन ऑप्शन के तहत उपभोक्ताओं की राशन बिलिंग न कर पा रहे हैं। उन्हें इसे चलाने का अनुभव ही नहीं है। कई डिपुओं में राशन देने में हो रही देरी भी इसी का नतीजा बनने लगा है और हजारों उपभोक्ता राशन न मिल पाने से चक्कर लगाने पर विवश हो रहे हैं।

 

यदि वह नंबर बदल दिया है या घर का दूसरा कोई सदस्य राशन लेने डिपो में गया है और उसके पास वह नंबर नहीं है, तो ओटीपी नंबर के बिना कोटे का राशन लेने को समस्या हो सकती है। तीसरे विकल्प के तहत स्कैन सिस्टम है, लेकिन कई मशीनों को यह सिस्टम खराब है।

 

चौथे ऑप्शन के तहत राशन कार्ड ओटीपी है, जिसके प्रति तो कई डिपो धारकों को चलाने की जानकारी ही नहीं हैं। ऐसे में जाहिर है त्योहारी सीजन में 10 तारीख हो जाने पर भी कई डिपुओं में राशन का कोटा ही उपभोक्ताओं को नहीं मिल पाया है।

 

वहीं जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक हमीरपुर शिव राम ने बताया कि आधार सरवर में समस्या होने से बायोमैट्रिक्स सिस्टम की जगह दूसरे विकल्पों से उपभोक्ताओं को राशन देने के आदेश जारी कर दिए हैं ताकि किसी को भी बेवजह चक्कर न लगाना पड़े। यह समस्या पीछे से ही है। मशीनें तो काम कर रही हैं, उनमें दूसरे विकल्प भी हैं। फिर भी जहां समस्या होगी, उसे हल करवाया जाएगा।


मशीनों में हैं चार ऑप्शन: दरअसल पहले ऑप्शन बॉयोमीट्रिक्स सिस्टम से ही करीब सभी डिपो धारक उपभोक्ताओं को हर माह राशन देते रहे हैं। लेकिन इस माह उनकी प्वांइट सेल मशीनों में इस ऑप्शन पर लाइसेंस एक्सपायर्ड बता रही हैं और इसके तहत मशीनें राशन कार्ड को लोड नहीं कर पा रही। हालांकि इन मशीनों में इसके अलावा तीन अन्य ऑप्शन तो हैं, लेकिन डिपू धारकों को इन मशीनों को चलाने की कोई ट्रेनिंग ही नहीं हुई है, ऐसे में दूसरे विकल्प के तौर पर ओटीपी नंबर जिसमें मोबाइल नंबर मौके पर पुराना ही चाहिए, जो राशन कार्ड बनाने के समय भरा गया था।


ट्रेंनिग दी जानी चाहिए: प्रदेश डिपो संचालन समिति का कहना है कि डिपू धारकों को अपडेट किया जाना चाहिए, जो मशीनों के दूसरे विकल्प हैं, उन ऑप्शन को चलाने के लिए कई डिपो धारक कम पढ़े लिखे हैं, तो कुछ जानकारी के अभाव में इसके दूसरे फंक्शन नहीं चला पा रहे। सभी को ट्रेनिंग देना जरुरी है। अभी तक इसका प्रशिक्षण नहीं दिया गया है।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना