खूबसूरती / मनोहारी चंद्रताल झील के आसपास लगाए गए टैंटों को हटाने को लेकर संचालकों को दिए नोटिस

The beauty of Chandratal lake will be taken
The beauty of Chandratal lake will be taken
The beauty of Chandratal lake will be taken
X
The beauty of Chandratal lake will be taken
The beauty of Chandratal lake will be taken
The beauty of Chandratal lake will be taken

दैनिक भास्कर

Jul 19, 2019, 01:36 PM IST

मनाली. हिमाचल के लाहौल- स्पीति क्षेत्र की मनोहारी चंद्रताल झील के आसपास लगाए गए टैंटों को लेकर स्थानीय पंचायत की ओर से वन विभाग और स्थानीय प्रशासन से अपील की है कि इन्हें हटाया जाए। इन टैंटों से झील की खूबसूरती को धब्बा लग रहा है।

 

14,100 फीट की ऊंचाई पर स्थित चंद्रताल झील के आसपास किसी तरह का टैंट लगाने पर रोक लगाई गई है। इस क्षेत्र को वन्यजीव अभ्यारण्य घोषित कर यहां मानव गतिविधियों पर प्रतिबंध है। इसके बाद भी करीब 100 लोगों ने चंद्रताल के आसपास टैंट लगा दिए हैं।

 

कोकसर पंचायत ने कड़ा संज्ञान लेते हुए दो दिन के भीतर सभी टैंट संचालकों को टैंट खाली करने का नोटिस जारी किया है। पर्यावरण सुरक्षा को देखते हुए कोकसर पंचायत ने टैंट लगाने से मना कर दिया है। कोकसर पंचायत ने वन विभाग और स्थानीय प्रशासन से गुहार लगाई और इन गतिविधियों को रोकने के लिए ग्राम सभा से प्रस्ताव भी भेजा। लेकिन जिला प्रशासन और वन्यजीव अभ्यारण्य ने कोई भी कार्रवाई नहीं की है।

 

इस पर कार्रवाई के लिए पंचायत अब आगे आ गई है। हिमालय पर बनी चंद्रताल झील प्राकृतिक सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है। लाहौल-स्पीति जिला के लाहौल व स्पीति घाटियों की सीमा पर कुंजुम दर्रा के पास चंद्रताल से चंद्रानदी का उद्गम होता है, जो आगे चलकर भागा नदी से मिलकर चंद्रभागा और जम्मू-कश्मीर में जाकर चिनाब में मिल जाती है।

 

जून से सितंबर तक हजारों की संख्या में सैलानी इस खूबसूरत झील को निहारने आते हैं। कोकसर और सिस्सू के पंचायत समिति सदस्य सुनील कुमार और कोकसर पंचायत की प्रधान अंजू देवी की अगुवाई में एक टीम ने चंद्रताल का दौरा कर यहां लगाए करीब 100 टैंट के मालिकों को नोटिस जारी कर दो दिन के भीतर चंद्रताल को खाली करने को कहा है।

 

वाइल्ड लाइफ सेंचुरी के आरओ देवेंद्र चौहान ने बताया कि चंद्रताल के आसपास लगे टेंट हटाने के लिए बीडीसी सदस्य सुनील ने फोन पर बात की है। उन्होंने कहा कि पंचायत की पहल पर और पर्यावरण सुरक्षा के मद्देनजर शीघ्र ही वहां से टेंटों को हटाया जाएगा।

 

 

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना