हिमाचल / शहीद तिलक राज को सरकार ने भुलाया,न स्कूल प्रमोट हुआ और न सड़क ही बनाई

शहीद तिलक राज की फाइल फोटो शहीद तिलक राज की फाइल फोटो
शहीद तिलक राज अपनी पत्नी सावित्री के साथ । फाइल फोटो शहीद तिलक राज अपनी पत्नी सावित्री के साथ । फाइल फोटो
X
शहीद तिलक राज की फाइल फोटोशहीद तिलक राज की फाइल फोटो
शहीद तिलक राज अपनी पत्नी सावित्री के साथ । फाइल फोटोशहीद तिलक राज अपनी पत्नी सावित्री के साथ । फाइल फोटो

  • शहादत पर गांव पहुंचे नेताओं व अधिकारियों ने दिया था आश्वासन
  • पत्नी ने कहा अगली पीढ़ी भी देश की रक्षा करेगी

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2020, 01:41 PM IST

धर्मशाला. पुलवामा हमले को एक साल आज बीत गया है। देश के लिए कुर्बान होने वाले वीर सैनिकों की शहादत पर कई नेताओं ने उनके घरों पर पहुंच कर सहानुभूति लेने के लिए उस समय कई घोषणाऐं की थी लेकिन अभी तक वह पूरी नहीं हो पाई है।

जिला कांगड़ा के ज्वाली विधानसभा के धेवा गांव के शहीद तिलक राज के घर पर पहुंच कर अधिकारियों व नेताओं ने सड़क का नाम और स्कूल को प्रमोट करने के लिए घोषणा की थी लेकिन आज तक वह पूरी नहीं हो पाई है। गांव के श्मशानघाट को बेहतर बनाने का वायदा भी आज तक पूरा नहीं हो पाया है। शहीद की पत्नी को सरकार की ओर से केवल नौकरी दी गई है।

गांव के लोगों का कहना है कि सड़क का निर्माण किया जाना चाहिए जिससे लोगों को सहुलियत मिल सके। इसी तरह गांव के स्कूल को भी अपडेट करना चाहिए जिससे यहां की लड़कियों को दूर जाकर पढ़ाई न करनी पड़े और वे यहीं पर पढ़ सके।

तिलक शान के नाम से जाना जाता था तिलक राज

शहीद तिलक राज पहाड़ी गीत गाने का शौकिन था और उन्होंने कई पहाड़ी गीतों को अपनी आवाज दी थी। तिलक काे लोगों का काफी प्यार मिलता था। जब भी वह छुट्टी पर आता था तो गीतों की शूटिंग करता था।

तिलक की पत्नी सावित्री का कहना है कि उनके पति को लोग प्यार से तिलक शान के नाम से पुकारते थे। सावित्री का कहना है कि जिस तरह से उनके पति ने देश की सेवा की है उसी तरह अगली पीढ़ी भी देश की रक्षा का काम करेगी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना