पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सात स्टूडेंट और दो टीचर दुनिया की दूसरी अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी माउंट किलीमंजारो को फतह करने के लिए रवाना

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सनावर स्कूल का दल - Dainik Bhaskar
सनावर स्कूल का दल
  • 2013 में माउंट एवरेस्ट पर चढ़कर बनाया था नया रिकार्ड, अब इतिहास रचने को तैयार
  • सनावर स्कूल का दल 10 से 17 अगस्त के बीच किलीमंजारो पर चढ़ाई करेगा

सोलन. लारेंस स्कूल सनावार के स्टूडेंट्स एक बार फिर इतिहास रचने के लिए तैयार हैं। स्कूल की सात गर्ल्स स्टूडेंट और दो महिला टीचर दुनिया की दूसरी और अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी माउंट किलीमंजारो को फतह करने के लिए बुधवार सुबह अफ्रीका रवाना हुईं। इससे पहले सनावर के सात बच्चों ने 2013 में माउंट एवरेस्ट पर चढ़कर एक नया इतिहास रचा था।
 
सुबह प्रार्थना सभा में स्कूल के मुख्य अध्यापक विनय पांडे ने 9 सदस्यों के दल को अफ्रीका महाद्वीप के तंजानिया देश में माउंट किलीमंजारो को फतह करने के लिए रवाना किया।
 
इसमें महिका गोयल, कशिश पठानिया, मेगन भागीरथी, रौशनी, ईशम प्रीत कौर आहूजा, अवन्ति अग्रवाल, अनयना पंचार के साथ दो महिला टीचर प्रिया झिंगन व प्रिया ढिल्लों शामिल हैं। माउंट किलीमंजारो फतह करने जाने वाली टीम अपने साथ भारत और स्कूल का झंडा साथ ले गए हैं जो माउंट किलीमिंजारो पर फहराया जाएगा।
 
इस अवसर पर ओल्ड सनारियन और असिस्टेंट कमिश्नर इनकम टैक्स पंचकूला कुमारी सुरभि ने कहा कि उन्होंने अपने जीवन में कभी हार नहीं मानी और अपना सपना साकार किया। उन्हें पुरी उम्‍मीद है की सनावर स्कूल की लड़कियां माउंट किलीमंजारो को फतह करके एक नया इतिहास रचेंगे। सनावर स्कूल का दल 10 से 17 अगस्त के बीच किलीमंजारो पर चढ़ाई करेगा।

 

खबरें और भी हैं...