तत्तापानी / ऋषि जमदगनी की तपोस्थली में मकर संक्रांति पर बनेगी 1500 किलो खिचड़ी, दीपदान में जलाए जाएंगे 3000 दीप

8 फीट गहरे इस बर्तन में खिचड़ी तैयार की जाएगी। 8 फीट गहरे इस बर्तन में खिचड़ी तैयार की जाएगी।
X
8 फीट गहरे इस बर्तन में खिचड़ी तैयार की जाएगी।8 फीट गहरे इस बर्तन में खिचड़ी तैयार की जाएगी।

  • मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सतलुज आरती से करेंगे पर्यटन उत्सव का शुभारंभ
  • तत्तापानी में संक्रांत के दिन हजारों की तादाद में श्रद्धालु स्नान के लिए आते हैं

दैनिक भास्कर

Jan 12, 2020, 04:12 PM IST

मंडी (पंकज पंडित). मकर संक्रांति पर 14 जनवरी को ऋषि जमदगनी की तपोस्थली तत्तापानी में हजारों श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाएंगे। तत्तापानी में लोहड़ी व मंकर संक्रांति का त्यौहार खास धूमधाम से मनाया जाता है। मकर संक्रांति पर यहां तीन दिन का पर्व होता है।

मंडी, शिमला, सोलन, बिलासपुर जिलों के अलावा प्रदेश के अन्य जिलों व देशभर के कई प्रांतों से लोग पुण्य स्रान करने व अपने ग्रहों के निवारण के लिए तुलादान करवाने तत्तापानी आते हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर 13 जनवरी को तत्तापानी पर्यटन उत्सव का शुभारंभ सतलुज आरती के साथ करेंगे।

यह है मान्यता
तत्तापानी में रेजरवायर बनने से पहले प्राकृतिक गर्म पानी के चश्मे हुआ करते थे, जहां श्रद्धालु स्नान व दान का महत्व मानते थे। प्राकृतिक चश्मे डूब गए हैं, लेकिन आस्था में कोई कमी नहीं हुई है। सरकार व प्रशासन के प्रयासों से जो कृत्रिम चश्मे बनाए गए हैं, अब वहां पर श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाते हैं। मान्यता है कि यहां स्नान करने से ग्रहों की शांति मिलती है। लोग यह भी दावा करत हैं कि यहां स्नान करने से चर्म रोग से मुक्ति मिलती है। ग्रहों की शांति के लिए यहां दूर-दूर से श्रद्धालु आकर तुलादान करते हैं।यहां ग्रहों की शांति के लिए पूरे माघ महीने में तुलादान व स्नान की परंपरा है। मान्यता है कि गर्म पानी के चश्मों में स्नान से चर्म रोगों से राहत मिलती है।

एचपीटीडीसी ने 1500 किलो खिचड़ी बनाने की तैयारी

तत्तापानी में होने वाले पर्यटन मेले के दौरान करीब 1500 किलो खिचड़ी पकाने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए आज हरियाणा के जगाधरी से  8 फीट गहरा और चौड़ा एक विशाल बर्तन लाया गया। शुद्ध देसी घी में पकने वाली खिचड़ी का प्रसाद लोहड़ी मकर सक्रांति शादी के दिन हजारों लोगों में बांटी जाएगी। यह खिचड़ी नर सिंह मंदिर ततापानी के समीप पकाई जानी है। लोहड़ी को खास बनाने के लिए पर्यटन विकास निगम ने तैयारियां जोरों शोरों से कर ली हैं।

रिकॉर्ड की तैयारी

हिमाचल पर्यटन विभाग की लोहड़ी पर खिचड़ी बनाने की योजना अगर सफल हो जाती है, तो यह खिचड़ी गिनिज़ बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी दर्ज हो सकती है। पर्यटन विकास निगम की प्रबंधन कुमुद सिंह ने बताया- विभाग का टारगेट है कि एक ही बर्तन में बनने वाली इस खिचड़ी को 25 हजार लोगों को खिलाया जाए। इस खिचड़ी में 800 किलो का मेटीरियल डाला जाएगा। डीसी ने बताया कि इस मौके पर मुख्यमंत्री, स्थानीय लोगों व पर्यटकों द्वारा 3000 दीपदान किए जाएंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना