हिमाचल / परिवहन मंत्री दे रहे निजी बसों में अाेवरलाेडिंग की खुली छूट, यात्रियों की सुरक्षा से खिलवाड़



Transport Minister playing with the security of passengers, permitting overloading in private buses.
X
Transport Minister playing with the security of passengers, permitting overloading in private buses.

  • विभाग ने बसों में 25% एक्स्ट्रा सवारियां भरने की दी छूट, लेकिन यहां होगी मनमानी
  • परिवहन मंत्री ने कहा अधिक सवारियाें काे बसाें में चढ़ाने पर होगी कड़ी कार्रवाई

Jul 15, 2019, 01:22 PM IST

शिमला. निजी बसाें में हाे रही अाेवरलाेडिंग काे परिवहन मंंत्री ने भी खुली छूट दे दी है। मंत्री की अाेर से अादेश जारी किए गए हैं कि निजी बसाें में तय सीटाें से 25 फीसदी से अधिक यात्रियाें काे बिठाया जा सकता है।

 

एेसे में अगर काेई भी पुलिस कर्मी, अारटीअाे अाैर एचअारटीसी प्रबंधन काेई कार्रवाई करता है ताे उसकी शिकायत निजी बस अाॅपरेटर्स उनके स्टाफ काे कर सकते हैं।

 

एेसे में साफ है कि अब निजी बस संचालक मंत्री के अादेशाें का हवाला देकर 25 फीसदी के बजाय फिर से 70 से 80 फीसदी तक अाेवरलाेडिंग करेंगे। इससे लाेगाें की मुसीबतेें बढ़ेगी अाैर यात्रियाें की सुरक्षा खतरे में पड़ सकती है।

 

परिवहन मंत्री गाेबिंद सिंह ठाकुर ने शिमला में हुई अारटीअाे, डीजीपी अाैर अन्य अधिकारियाें के साथ बैठक में इस तरह के अादेश जारी किए हैं। इस तरह की अधिसूचना जारी हाेने से अब जहां निजी बसाें की मनमानी बढ़ जाएगी, वहीं अारटीअाे की पाॅवर भी कम हाे गई है।

 

अभी तक जाे अाेवलाेडिंग काे लेकर कार्रवाई हाे रही थी, अब वह भी बंद हाे जाएगी। बंजार हादसे के बाद परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर ने सबसे पहले दुर्घटनाग्रस्त बस की कंडिशन को क्लीन चिट दी थी।

 

गोविंद ठाकुर ने बस की कंडीशन को तो सही ठहरा दिया, लेकिन ओवरलोडिंग के लिए जरूर आरटीओ ऑफिस और पुलिस को जिम्मेदार माना। हालांकि दुर्घटनाग्रस्त बस हादसे के रोज से पहले 10 दिन खड़ी रही थी। 10 साल पुरानी वो बस लगातार खराब भी रहती थी।

 

ऐसे में जब परिवहन मंत्री ही दुर्घटनाग्रस्त बस की जांच हुए बगैर उसकी कंडीशन को सही ठहराकर प्राइवेट बस ऑपेटर को सही मानें तो अंदाजा लगा सकते हैं कि परिवहन मंत्री का परिवहन विभाग जानलेवा ओवरलोडिंग करने वाले प्राइवेट बस ऑपरेटर पर कितना कंट्रोल रख सकेगा।

 

बस में कुल सीटों के 25 फीसदी यात्री खड़े होकर सफर कर सकते हैं। इसे लेकर सरकार की अाेर से अधिसूचना जारी की गई है। 40 सीटर बस में 25 फीसदी के हिसाब से 10 सवारियां खड़े होकर सफर कर सकती है।

 

इसे ओवरलोडिंग नहीं माना जाएगा। जबकि निजी बस संचालक इसे नहीं मानते हैं। वे 25 फीसदी के बजाय 70 से 80 फीसदी तक अाेवलाेडिंग करते हैं। अब परिवहन मंत्री के अादेश के बाद बसाें में अाैर अाेवरलाेडिंग शुरू हाे जाएगी।


परिवहन मंत्री गाेविंद सिंह ठाकुर ने माना कि बसाें में 25 प्रतिशत तक अाेवरलाेडिंग काे मंजूरी दी गई है। अगर काेई भी बस इससे अधिक सवारियाें काे बसाें में चढ़ाती है ताे उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

 

बसाें की कमी के चलते बसाें में 25 से 30 प्रतिशत तक की अाेवरलाेडिंग की छूट दी गई है, लेकिन बसाें की छताें पर सफर करने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा।

 

साथ ही यह भी व्यवस्था करने काे कहा कि बस चालक के अासपास का क्षेत्र खाली रहेे। अाेवरलाेडिंग की समस्या काे कम करने के लिए सरकार शीघ्र बसाें की व्यवस्था करने जा रही है।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना