ऊना / निशानेबाज संजीव का राष्ट्रपति को पत्र, दुष्कर्मियों को फांसी पर चढ़ाने के लिए बनना चाहता हूं जल्लाद

निशानेबाज संजीव। निशानेबाज संजीव।
X
निशानेबाज संजीव।निशानेबाज संजीव।

  • संजीव ने कहा, देश के किसी भी कोने में जाकर दुष्कर्मी को फांसी देने को तैयार
  • जल्लाद न होने के कारण दुष्कर्म के दोषियों को फांसी देने में हो रही देरी

दैनिक भास्कर

Dec 07, 2019, 03:56 PM IST

ऊना. राष्ट्रीय स्तर के निशानेबाज संजीव ने राष्ट्रपति रामनाथ कोबिंद को पत्र लिखकर जल्लाद बनने की इच्छा जाहिर की है। संजीव का कहना है कि जल्लाद न होने के कारण दुष्कर्म के दोषियों को सजा देने में देरी हो रही है। इसीलिए वह इस कमी को पूरा करने के लिए सामने आए हैं।


संजीव एक बेटी के पिता हैं और ऊना में ऑटो वर्कशॉप व स्पेयर पार्ट की दुकान किए हैं। उन्होंने राष्ट्रपति को लिखे पत्र में कहा- उन्हें देश के किसी भी कोने में भेज दिया जाए, जहां दुष्कर्म के दोषी को फांसी की सजा हो गई हो और जल्लाद न होने के कारण दोषी फांसी के फंदे से बचा हो। जल्लाद का काम कर वह उन पीड़ित लड़कियों की आत्मा को शांति देना चाहते हैं। 

संजीव ने शनिवार को ऊना के कार्यकारी डीसी अरिंदम चौधरी को राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन सौंपा है। गौरतलब हो कि शिमला के संजौली से एक युवक ने भी राष्ट्रपति को पत्र लिख कर जल्लाद बनने की ख्वाहिश की थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना