Home | Himachal | Hamirpur | शिक्षा मंत्री की गाड़ी ने तोड़ा शहर में वन-वे ट्रैफिक पुलिस भी साथ में, किसी ने नहीं रोका

शिक्षा मंत्री की गाड़ी ने तोड़ा शहर में वन-वे ट्रैफिक पुलिस भी साथ में, किसी ने नहीं रोका

प्रदेश के शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज शुक्रवार को हमीरपुर शहर में स्कूलों में छापामारी के लिए पहुंचे हुए थे।...

Bhaskar News Network| Last Modified - Feb 03, 2018, 02:00 AM IST

शिक्षा मंत्री की गाड़ी ने तोड़ा शहर में वन-वे ट्रैफिक पुलिस भी साथ में, किसी ने नहीं रोका
शिक्षा मंत्री की गाड़ी ने तोड़ा शहर में वन-वे ट्रैफिक पुलिस भी साथ में, किसी ने नहीं रोका
प्रदेश के शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज शुक्रवार को हमीरपुर शहर में स्कूलों में छापामारी के लिए पहुंचे हुए थे। लेकिन इस अभियान के दौरान उनकी सरकारी गाड़ी ने शहर में वन-वे का नियम तोड़ा। वीआईपी की गाड़ी के साथ उनके स्टाफ की दूसरी गाड़ियां भी थी। उनकी गाड़ी सब्जी मंडी से ऊपर की तरफ वन-वे को तोड़ते हुए बाल सीनियर सेकंडरी स्कूल तक पहुंच गई। यहां से मंत्री अपने एक परिचित के घर उनसे मिलने के लिए चले गए। मंत्री की गाड़ी के साथ स्थानीय ट्रैफिक पुलिस के कर्मचारियों की एक टीम भी चल रही थी लेकिन इन कर्मचारियों ने मंत्री के ड्राइवर को न तो नीचे से ऊपर की और जाने के लिए रोका और न ही उन्हें इस वन-वे नियम के उल्लंघन के बारे में कोई जानकारी दी। लिहाजा ड्राइवर गाड़ी को लेकर नीचे से ऊपर की ओर आ गया। शहर में सालों से वन-वे का नियम लागू है। जिसके तहत रोजाना रूल तोड़ने वालों को पुलिस पकड़ कर चालान काटती है। नियम सबके लिए बराबर है।

वन-वे के इस उल्लंघन में सबसे बड़ी कोताही और लापरवाही उन पुलिस कर्मचारियों की है जो लोग इस व्यवस्था को चेक करने में लगाए गए थे। कर्मचारी मंत्री की गाड़ियों के साथ चल रहे थे लेकिन प्राइमरी स्कूल का निरीक्षण करने के बाद जब मंत्री की गाड़ी मेन बाजार से नीचे से ऊपर की और बाल स्कूल की तरफ आई तो किसी ने भी ड्राइवर को इस बाबत जानकारी नहीं दी। बताना लोकल पुलिस की ही काम था। हालांकि जब मंत्री वापस जाने लगे तो उनकी सभी गाड़ियों को स्कूल के बाहर ही मोड़कर नीचे की ओर लगाया गया और वहीं से बाद में गाड़ियों का यह काफिला बाजार से मेन सड़क के लिए निकला।

स्थान : मेन बाजार से सब्जी मंडी

होते हुए मंत्री की गाड़ी हुई क्रॉस

हमीरपुर शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज की गाडी शहर में वन वे का उल्लंघन करके नीचे से ऊपर की और आते हुई।

साथ चल रहे ट्रैफिक कर्मियों ने क्यों नहीं रोका : एसपी

साथ में चल रहे ट्रैफिक कर्मचारियों ने मंत्री के ड्राइवर को वन वे नियम के बारे में क्यों नहीं बताया इस मामले की जांच की जाएगी। नियम के बारे में कर्मचारियों को बताना चाहिए था। आगे से कर्मचारियों को निर्देश दिए जाएंगे कि वह नियमों का पूरा पालन किया करें। रमन कुमार मीणा, एसपी हमीरपुर

साइंस लैब के लिए 30 लाख जारी करने के निर्देश

शिक्षा मंत्री ने गर्ल्स स्कूल में प्रस्तावित साइंस लैब के लिए मंजूर हुए 30 लाख के बजट को जल्द जारी करने के प्रोजेक्ट डायरेक्टर को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पैसे को जल्द रिलीज किया जाए ताकि स्कूल में लैब का काम शुरू हो सके। निरीक्षण के दौरान स्कूल के पास स्थित दुकानदारों का एक प्रतिनिधिमंडल भी उनसे मिला और उन्होंने शिक्षा मंत्री से मांग की कि स्कूल की जो दीवार सड़क के किनारे है उसे हटाकर वहां पर अगर दुकानें बना दी जाए तो इसका काफी फायदा होगा। मंत्री ने इस पर गौर करने का आश्वासन दिया। सुरेश भारद्वाज ने बाल सीनियर सेकंडरी स्कूल में भी निरीक्षण करना था लेकिन समय की कमी बताकर वो यहां गेट से ही वापस लौट गए। प्रिंसिपल मंजू ठाकुर ने उन्हें अंदर आने के लिए निवेदन भी किया लेकिन समय का अभाव बताकर मंत्री वहां से चले गए।

समय : शुक्रवार सुबह शिक्षा मंत्री

भारद्वाज ने वनवे का किया उल्लंघन

शिक्षा मंत्री ने हमीरपुर के दो स्कूलों में प्रार्थना सभा के दौरान मारा छापा| शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने शुक्रवार सुबह करीब सवा नौ बजे शहर के दो सरकारी स्कूलों में छापा मारकर वहां के कामकाज की व्यवस्था का मुआयना किया। प्रार्थना सभा के वक्त अचानक शिक्षा मंत्री के स्कूलों में पहुंच जाने से वहां हड़कंप मच गया। उन्होंने करीब दो घंटों तक शहर के गर्ल्स सीनियर सेकंडरी स्कूल और प्राइमरी स्कूल में निरीक्षण किया। उन्होंने इन स्कूलों में छात्रों के लिए बेहतर सुविधाएं जुटाने के अधिकारियों को मौके पर निर्देश दिए। शिक्षा मंत्री सबसे पहले लोअर बाजार में स्थित गर्ल्स स्कूल में पहुंचे। वहां स्टूडेंट्स ग्राउंड में प्रार्थना सभा के लिए तैयार थे। शिक्षा मंत्री ने प्रार्थना सभा में खुद भी शामिल होकर इस सिस्टम को देखा। उन्होंने प्रिंसिपल नीना डोगरा से स्कूल के बारे में जानकारियां हासिल कर वहां का निरीक्षण किया।

प्राइमरी स्कूल की हालत देखकर मायूस हुए मंत्री

मंत्री दशकों बाजार में स्थित प्राइमरी स्कूल के जर्जर भवन की हालत देखकर मायूस हुए। उन्होंने यहां टीचरों से बात की स्कूल में स्थित शौचालयों की हालत ठीक नहीं थी। प्राइमरी स्कूल में दो नए कमरे बनाने के लिए करीब 7 लाख मंजूर हुए हैं। मंत्री ने बताया कि बाकी कमरों का निर्माण भी प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now