--Advertisement--

सख्ती का असर, सड़कों पर नहीं रखा सामान

गांधी चौक से लेकर बाल सीनियर सेकंडरी स्कूल तक अतिक्रमण को रोकने के लिए एक दिन पूर्व किए गए वायदे को दुकानदारों ने...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:00 AM IST
सख्ती का असर, सड़कों पर नहीं रखा सामान
गांधी चौक से लेकर बाल सीनियर सेकंडरी स्कूल तक अतिक्रमण को रोकने के लिए एक दिन पूर्व किए गए वायदे को दुकानदारों ने निभाना शुरू कर दिया है। अतिक्रमणकारियों और रेहड़ी-फड़ी वालों के खिलाफ सख्ती बुधवार को बाजार में साफ देखने को मिली। बाजार के दोनों किनारों पर कहीं पर भी कोई अतिक्रमण नाली के आगे नजर नहीं आया, सब खुला था।

पिछले काफी समय से लगातार डीसी के पास बाजार में अतिक्रमण को लेकर शिकायतें पहुंच रही थीं। जिसके बाद प्रशासन ने सख्ती अपनाते हुए अप्पर बाजार में रेलिंग लगाने की योजना तैयार की थी। लेकिन दुकानदारों द्वारा एक माह की मोहल्लत येलो लाइन को लेकर मांगने के बाद और खुद अतिक्रमण को पकड़ने की मुहिम चलाने का असर सामने आया है।

बुधवार को करीब 200 मीटर के दायरे में कोई भी रेहडी सड़क के किनारे नाली से आगे नजर नहीं आई जो रोजाना लगती थी। किसी भी दुकान का सामान नाली के आगे रखा हुआ देखा गया। प्रशासन खुद भी इस सिस्टम को रोजाना चेक करेगा।

बाजार के ऊपरी हिस्से में तो अतिक्रमण को रोकने की मुहिम शुरू हो चुकी है, लेकिन अब सब्जी मंडी से निचले बाजार की तरफ भी अतिक्रमण को रोजाना चेक करके देखना होगा।

इस हिस्से में भी जहां-जहां रेहड़ी-फड़ी या नाली से बाहर दुकानों का सामान बाहर रखा गया होगा, उन पर भी प्रशासन को शिकंजा कसना होगा।

अप्पर बाजार में बुधवार को सडक किनारे कहीं नजर नहीं आया अतिक्रमण।

नई रेहड़ी लगी तो नप जिम्मेदार : डीसी

डीसी राकेश कुमार प्रजापति पहले ही साफ कर चुके हैं कि अब अगर शहर में कोई भी नई रेहड़ी नजर आई तो इसके लिए नगर परिषद के ईओ जिम्मेदार होंगे। प्रशासन नगर परिषद के प्रयासों और कार्यवाही पर भी नजर रखेगा और अगर इसमें कहीं भी ढील पाई गई, तो संबंधित कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी हो सकती है। पूर्व में भी नगर परिषद द्वारा अतिक्रमण हटाने को लेकर साल में दर्जनों बार अभियान चलाए जाते हैं, लेकिन नतीजा हर बार शून्य ही रहता है। दोबारा से वही व्यवस्था बाजार में बन जाती है, सालों से यही चलता आया है। अब डीसी ने खुद अतिक्रमण हटाने की कमान संभाली है।

X
सख्ती का असर, सड़कों पर नहीं रखा सामान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..