• Hindi News
  • Himachal Pradesh News
  • Hamirpur News
  • गर्ल्स स्कूल के साइंस लैब भवन की स्ट्रक्चर ड्राइंग नहीं आ रही मंजूर होकर, टेंडर के बाद भी लटका है निर्माण
--Advertisement--

गर्ल्स स्कूल के साइंस लैब भवन की स्ट्रक्चर ड्राइंग नहीं आ रही मंजूर होकर, टेंडर के बाद भी लटका है निर्माण

गर्ल्स सीनियर सेकंडरी स्कूल हमीरपुर में करीब दो करोड़ की लागत से बनने वाले बहुमंजिला साइंस लैब भवन की स्ट्रक्चर...

Dainik Bhaskar

Apr 21, 2018, 02:00 AM IST
गर्ल्स सीनियर सेकंडरी स्कूल हमीरपुर में करीब दो करोड़ की लागत से बनने वाले बहुमंजिला साइंस लैब भवन की स्ट्रक्चर ड्राइंग पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर कार्यालय से मंजूरी होकर वापस नहीं आ रही है, जबकि विभाग दावा कर रहा कि काम अवाॅर्ड हो गया । वहीं, बिना स्ट्रक्चर ड्राइंग की मंजूरी के ठेकेदार काम शुरू करने की हिम्मत नहीं दिखा कर रहा। काबिलेगौर है कि तीन साल पहले तत्कालीन मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने इसका शिलान्यास करके कहा था कि दो साल के भीतर इसमें सभी सुविधाएं भी मुहैया करवा दी जाएंगी। कांग्रेस सरकार के बाद अब भाजपा सरकार को भी सत्ता संभाले चार माह हो गए, लेकिन नई सरकार भी पीडब्ल्यूडी की लेट-लतीफी को चुस्त नहीं पर पाई है। काबिलेगौर है कि 7 अप्रैल को इसी स्कूल में शिक्षामंत्री मेधावी स्टूडेंट्स को लैपटॉप बांटने आए थे। उन्होंने भी यह निर्माण शीघ्र करने के आदेश संबंधित विभाग को दिए थे। इसके बावजूद भी स्ट्रक्चर ड्राइंग की फाइल अधर में घूम रही है।

तीन साल में कार्य ही शुरू नहीं हो पाया, पीडब्ल्यूडी निर्माण एजेंसी बनने को तो तैयार

दो बैच हो गए पासआउट | इसकी सुविधाओं का उपयोग करने के इंतजार में ही स्कूल की जमा दो कक्षाओं के दो बैच पासआउट हो चुके हैं। लेटलतीफी देखकर लग रहा कि एक और बैच भी पासआउट हो जाएगा। जिला मुख्यालय पर स्थित लड़कियों के इस स्कूल में साइंस लैब भवन की सख्त जरूरत है, फिर भी सरकार ध्यान नहीं दे रही। वहीं अभिभावकों की जब भी स्कूल में मीटिंग होती तो इसकी चर्चा जरूर हो रही, अब तो पैरेंट्स ने यहां तक कहना शुरू कर दिया कि पीडब्ल्यूडी निर्माण एजेंसी बनने को तो एकदम हां कर देती, लेकिन कार्य शुरू करने और खत्म करने में सालों लगाती है। यहां से पुराने भवन को गिराए भी दो साल हो गए हैं।

बड़ा परीक्षा बनेगा | नए साइंस भवन की ऊपरी मंजिल पर बड़ा हॉल बनेगा। इसका उपयोग परीक्षा हॉल के रूप में भी लिया जाएगा। इस स्कूल को शिक्षा विभाग ने बतौर मॉडल स्कूल चयनित कर लिया है। इसमें कई तरह की सुविधाओं को स्थापित करवाने का काम जारी है। स्कूल में स्मार्ट क्लास रूम की सुविधा मुहैया हो गई है।


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..