--Advertisement--

डॉक्टरों के रिक्त पद शीघ्र नहीं भरे तो करेंगे आंदोलन

उपमंडल के टीहरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर न होने से उपतहसील की पांच पंचायतों के मरीज गत 8महीनों से...

Dainik Bhaskar

Apr 21, 2018, 02:00 AM IST
उपमंडल के टीहरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर न होने से उपतहसील की पांच पंचायतों के मरीज गत 8महीनों से सरकाघाट के चक्कर लगाने को मजबूर हैं। किसान सभा ने टीहरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक के रिक्त पद को भरने की मांग को लेकर नायब तहसीलदार टीहरा के माध्यम से स्वास्थ्य मंत्री व सीएमओ मंडी को मांग-पत्र भेजा है। मांग-पत्र के माध्यम से टीहरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में शीघ्र डॉक्टर नियुक्त करने की मांग की गई है।

किसान सभा के खंड अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग का लचर रवैया होने से इन पंचायतों के लोगों का स्वास्थ्य रामभरोसे है। हिमाचल किसान सभा के खंड अध्यक्ष एवं सज्जाओ वार्ड से जिला परिषद सदस्य भूपेंद्र सिंह का आरोप है कि वर्तमान सरकार व धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र से ताल्लुक रखने वाले काबीना मंत्री अपने हल्के में डॉक्टर नियुक्त नहीं कर पाए। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र टीहरा में पिछले 8महीनों से डॉक्टर का पद रिक्त चल रहा है। पार्षद भूपेंद्र सिंह, रूपचंद, अमर सिंह, सुरेंद्र पाल, नत्थू राम, कश्मीर सिंह, मेहताब सिंह, बलदेव सिंह, रमेल सिंह, बलवंत, हुक्म सिंह, मान सिंह, अरुण अत्री, राकेश कुमार, राजेंद्र सोनी, रणबीर शास्त्री, हरजीत सिंह, अश्विनी राणा, शनि कुमार, निर्मला देवी, किरण वाला, सीमा, नीलम, कांता, संतोष, माया, तारा, अंजू, रीनू, मीरा, शीला, ब्रह्मी, कमला, पम्मी, पूजा, प्रोमिला, राजकुमारी, रजनी, रेखा, अनिता, रीना, लत्ता, पिंकी, सीता, रानो इत्यादि ने मांगपत्र के माध्यम से सरकार को चेताया कि अगर 10दिनों में टीहरा में डॉक्टर नियुक्त नहीं किया गया तो 30 अप्रैल को प्रदर्शन किया जाएगा।

पीएचसी के लिए जो लिंक रोड़ बना है उसे वाहन चलने योग्य नहीं बनाया गया है। यही हाल संधोल, मढ़ी, धर्मपुर व मंडप का भी है। जिससे जनता को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। उन्होंने आरोप लगाया है कि मंत्री पूर्व सरकार के समय शुरू हो चुके कार्यों का दूसरी व तीसरी वार शिलान्यास व भूमि-पूजन करने में ही व्यस्त हैं।

मंत्री बनने के बाद जनता को भूले महेंद्र सिंह: भूपेंद्र

हिमाचल में भाजपा की सरकार व उसमें धर्मपुर के विधायक मंत्री को बने हुए चार महीने होने जा रहे हैं। लेकिन वह इस स्वास्थ्य केंद्र में एक डॉक्टर नहीं लगा पाए हैं। जिस कारण टिहरा, कोट, ग्रयोह, तनिहार व गरोडू गद्दीधार की 20 हजार से अधिक आबादी की सेहत की देखभाल करने वाला कोई नहीं है। इससे समाज में सरकार के प्रति आक्रोश फैल रहा है। भूपेंद्र सिंह ने बताया कि जनता को उम्मीद थी कि सरकार बदलने व मंत्री बनने से क्षेत्रवासियों को राहत मिलेगी और विकास की गति तेज होगी। लेकिन अभी तक जनता को निराशा ही मिली है। छोटी बीमारी के इलाज के लिए भी हमीरपुर, टांडा, मंडी या शिमला जाना पड़ता है। जिससे लोगों के हजारों रुपए खर्च हो रहे हैं। लेकिन मंत्री जनता की सुध नहीं ले रहे हैं। इसी जनता ने उन्हें 7वीं बार रिकार्ड मतों से जिताया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..