हमीरपुर

  • Hindi News
  • Himachal Pradesh News
  • Hamirpur News
  • क्या इस साल फिर फलेगा-फूलेगा डमी एडमिशनों का धंधा, प्लस टू के नतीजों ने खोली निजी शिक्षण संस्थानों की पोल
--Advertisement--

क्या इस साल फिर फलेगा-फूलेगा डमी एडमिशनों का धंधा, प्लस टू के नतीजों ने खोली निजी शिक्षण संस्थानों की पोल

हमीरपुर में चुनिंदा और खास स्कूल डमी दाखिलों की बदौलत जिस तरीके से अभी तक अपना धंधा चमकाते रहे हैं। इस बार प्लस टू...

Dainik Bhaskar

Apr 28, 2018, 02:00 AM IST
हमीरपुर में चुनिंदा और खास स्कूल डमी दाखिलों की बदौलत जिस तरीके से अभी तक अपना धंधा चमकाते रहे हैं। इस बार प्लस टू के नतीजों के आने के बाद कई की पोल भी खुली है। लेकिन यह बात भी अब पूरी तरह उजागर हो गई है कि डम्मी दाखिलोंं की मार्फत कैमरे की जद में आने वाले परीक्षा केंद्रों के बाद अब स्थिति में सुधार तो होगा ही लेकिन इसमें शिक्षा विभाग के अधिकारियों का रवैया बदलेगा तब। भास्कर ने डमी ताकतों को लेकर इस माह के शुरू मैं जो भंडाफोड़ किया था उसके बाद अब यहां नए शैक्षणिक सत्र में अधिकारियों पर भी यह नजर रहेगी, जिन्हें स्कूलों को जांचने का जिम्मा दिया गया है।

देखा यह जाएगा कि वे शैक्षणिक सत्र शुरू होते ही इन चुनिंदा स्कूलों के दौरे आखिर कितने करेंगे क्या कक्षाओं में 50 परसेंट से ज्यादा तक की अनुपस्थिति डमी दाखिलों की पोल नहीं खुलेगी?

हमीरपुर में अभी कुछ चुनिंदा स्कूल डमी दाखिलों की बदौलत मोटी कमाई कर रहे हैं। जबकि जिला भर में भी ग्रामीण क्षेत्र में स्थित ऐसे स्कूलों में इनकी तादाद अब धीरे-धीरे बढ़ने लगी है। अधिकारियों की बदौलत ही या धंधा हमीरपुर में सबसे ज्यादा फल फूल रहा है क्योंकि कई अधिकारियों के बच्चे भी इसी डमी एडमिशन की मार्फत बड़े दर्जे को हासिल करने की सवारी कर रहे हैं। दसवीं के बाद या धंधा प्लस वन और टू में लगातार बढ़ रहा है।

हमीरपुर में भी कुछ एकेडमी या अब इसी की सवारी की बदौलत आगे बढ़ रही हैं और कुछ नहीं खोलने की तैयारी में है। अब यह तो हमीरपुर की बात है कई चुनिंदा स्कूलों में इसी डमी एडमिशन के बहाने बच्चे चंडीगढ़ और कोटा में साल भर कोचिंग ले रहे हैं और रिजल्ट जब उनका निकलता है तो फोटो सेशन के लिए उनकी मौजूदगी यहां दूसरे या तीसरे दिन हो ही जाती है।

हमीरपुर में बड़े स्तर पर हो रहा एकेडमियों में डमी एडमिशन के बहाने निजी शिक्षण संस्थानों का धंधा

कुछ स्कूलों ने बंद किया ये धंधा

हमीरपुर के कुछ प्रतिष्ठित स्कूलों ने तो इस धंधे को पूरी तरह अब बंद कर दिया है लेकिन इनमें कुछ चुनिंदा अभी भी इस धंधे में हाथ मारने से पीछे क्यों रहे। इसी वजह से वह सबसे ज्यादा इसी पर विश्वास कर रहे हैं क्योंकि बड़ी कक्षाओं में फीस भी मोटी है और फिर इसका फायदा हो जाए तो उनके लिए गुनाह भी क्या है।

अतिरक्त पैसा वसूलते है प्रबंधक

प्लस वन पास करने के बाद प्लस टू के दाखिले तो मुकम्मल हो गए हैं। अभी कई स्कूलों में यह क्रम जारी है। डमी दाखिलों वाले स्कूलों के प्रबंधक भी होशियार हैं, क्योंकि वे शुरू में ही दाखिल ले लेते हैं और देरी से आने वालों के लिए अतिरिक्त पैसा वसूलते हैं।

X
Click to listen..