Hindi News »Himachal »Hamirpur» नई पेंशन स्कीम के खिलाफ रैली में 14 राज्य के कर्मचारी लेंगे भाग

नई पेंशन स्कीम के खिलाफ रैली में 14 राज्य के कर्मचारी लेंगे भाग

केंद्र व राज्य सरकारें कुंभकर्णी नींद सोई हुई हैं। कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाली की मांग न तो राज्य सरकारें...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 28, 2018, 02:00 AM IST

केंद्र व राज्य सरकारें कुंभकर्णी नींद सोई हुई हैं। कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाली की मांग न तो राज्य सरकारें और न ही केंद्र सरकार पूरी कर रही है। अब नई पेंशन स्कीम के खिलाफ कर्मचारी एकजुट हो गए हैं और 14 राज्यों के कर्मचारी रोष रैली दिल्ली में 30 अप्रैल को निकालेंगे। यह बात यहां जारी बयान में प्रदेश एनपीएस कर्मचारी एसोसिएशन के मुख्य सलाहकार राजेंद्र कुमार स्वदेशी ने कही। अगर सरकार पुरानी पेंशन को बहाल करती है, तो देश के 48,00,000 कर्मचारी लाभांवित होंगे। स्वदेशी का कहना है कि मांग पूरी न होने के कारण ही राष्ट्रीय स्तर पर सभी राज्य मिलकर एक महा आंदोलन करेंगे। 2003 में सरकार ने नई पेंशन स्कीम लागू की थी, जिसके बाद से ही इसमें व्यापक खामियों को लेकर आवाजें मुखर होना शुरू हो गई थी। क्योंकि इस वर्ग के कर्मचारियों ने इसे अपने अधिकारों का हनन करार दिया था। अब इस वर्ग के कर्मचारियों ने आर-पार की लड़ाई करने की ठानी है। उनका कहना है कि इस वर्ग के कर्मचारियों ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी है कि करीब 15 वर्ष पूर्व लागू की गई नई पेंशन स्कीम को बंद करके पुरानी पेंशन स्कीम को बहाल किया जाए। नई पेंशन प्रणाली कर्मचारियों को लागू की गई है, मगर विधायकों व सांसदों को पुरानी पेंशन प्रणाली के अंतर्गत रखा गया है। जोकि इस वर्ग के कर्मचारियों के साथ अन्याय है। प्रेस सचिव चंद्र मोहन का कहना है कि दिल्ली की रैली में हिमाचल के एनपीएस कर्मचारी भारी संख्या में भाग लेंगे। इस बारे रणनीति तैयार कर ली गई है।

कर्मचारियों के लिए लागू हो पुरानी पेंशन स्कीम

ऊना |
अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के जिलाध्यक्ष रमेश सिंह ठाकुर ने बताया कि न्यू पेंशन स्कीम के लिए 30 अप्रैल को दिल्ली में होने वाली महारैली का अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ सर्मथन करेगा। उन्होंने केंद्र सरकार व हिमाचल सरकार से मांग की है कि 15 मई 2003 के बाद नियुक्त कर्मचारियो की पुरानी पेंशन बहाल की जाए। इस मौके पर चेयरमैन भूपिंद्र सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष वरिंद्र शर्मा, महासचिव तारा सिंह, ब्लॉको के प्रधान व महासचिव में गगरेट से रणवीर सिंह, रविंद्र कुमार, हरोली से दिलबाग सिंह, विनय शर्मा, बंगाणा से मोहिंद्र सिंह राणा, राजिंद्र सिंह, अंब से हरभगवान, विजय शर्मा, ऊना से पपिंद्र शर्मा, बलवीर सिंह व शहरी इकाई ऊना से संजीव कुमार, राजेश कुमार भी मौजूद रहे। अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि प्रदेश में जिन हजारों अनुबंध कर्मचारियों का 31 मार्च तक 3 वर्ष का कार्यकाल पूरा हो चुका है। ऐसे अनुबंध कर्मचारियों को नियमित करने की अधिसूचना जारी की जाए और बजट सत्र में 4 फीसदी की अंतरिम राहत देने की घोषणा की थी। उसकी भी अधिसूचना जारी नहीं हुई है। वह अधिसूचना जारी की जाए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hamirpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×