हमीरपुर

--Advertisement--

पहली परीक्षा का रिजल्ट आया नहीं दूसरे की निकाल दी तिथि, प्रदर्शन

हिमाचल प्रदेश स्टाफ सिलेक्शन कमीशन द्वारा प्रदेश में 236 पदों को भरने के लिए मई 2017 में ली गई शास्त्री पदों की परीक्षा...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:00 AM IST
पहली परीक्षा का रिजल्ट आया नहीं दूसरे की निकाल दी तिथि, प्रदर्शन
हिमाचल प्रदेश स्टाफ सिलेक्शन कमीशन द्वारा प्रदेश में 236 पदों को भरने के लिए मई 2017 में ली गई शास्त्री पदों की परीक्षा का फाइनल परिणाम घोषित न होने को लेकर अभ्यर्थी भड़क गए हैं। बुधवार को प्रदेशभर से दर्जनों अभ्यर्थी शास्त्री बेरोजगार संघ के बैनर तले कमीशन के दफ्तर पहुंचे, जहां उनका गुस्सा इस लेटलतीफी को लेकर फूटा। अभ्यर्थियों का कहना था कि इवेल्यूएशन प्रोसेस पूरा हुए दो माह से ज्यादा का समय हो चुका है, लेकिन बावजूद इसके कमीशन परिणाम घोषित नहीं कर रहा है। पिछले पदों को भरने के लिए ली गई परीक्षा का परिणाम तो घोषित नहीं हो पाया है, उल्टा नए पदों को भरने के लिए रिटन टेस्ट की डेट इसी माह आ गई है। पुराने अभ्यर्थियों में असमंजस की स्थिति बनी हुई है।

जिन अभ्यर्थियों ने शास्त्री की परीक्षा दी है, वह लोग बुधवार को ऊना, मंडी, चंबा, बिलासपुर, सिरमौर, हमीरपुर, सोलन, मंडी और कांगड़ा जिलों से कमीशन के दफ्तर सुबह 10:00 बजे ही पहुंच गए थे। शास्त्री रोजगार संघ के बैनर तले इन लोगों ने गुस्सा जताया कि प्रोसेस पूरा हाेने के बावजूद परिणाम घोषित नहीं किया जा रहा है। आयोग ने 28 मई, 2017 को 236 पदों के लिए परीक्षा ली थी, इसमें 708 उम्मीदवार मूल्यांकन प्रक्रिया के लिए चयनित हुए थे। 20 फरवरी को यह प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है, पर परिणाम घोषित नहीं किया जा रहा। अभ्यर्थियों तिलक राज, विजय कुमार, आशीष डोगरा, राकेश पांडेय, अमित कपाटिया, सन्नी शर्मा, कविराज, संदीप कुमार, परमानंद, दिराम, नरेश कुमार, दीपक कुमार और अजय कुमार का कहना था कि जब सारी प्रक्रिया पूरी हो चुकी है तो परिणाम घोषित क्यों नहीं किया जा रहा? जब भी कमीशन से संपर्क कर जानकारी ली जाती है, तो कहते हैं 10 दिन में परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। अब तो 27 मई को शास्त्री पदों की नई परीक्षा का रिटन टेस्ट भी आ गया है। कमीशन जल्द परिणाम घोषित करें, नहीं तो उन्हें कोई कड़ा कदम उठाना पड़ेगा।

सचिव से शास्त्री परीक्षा पास करने वाले अभ्यर्थी जल्द परिणाम घोषित करने को लेकर बात करते हुए।

पहले स्टेट फिर क्लेरीफिकेशन के चक्कर में फंसा रिजल्ट

शास्त्री परीक्षा कभी स्टे की वजह से तो कभी क्लेरीफिकेशन के चक्कर में फंसी रही। जिस समय यह परीक्षा हुई थी, उस वक्त कहा गया कि आयोग के एक सेंटर में कुछ गड़बड़ी हुई है, जिसे लेकर एसडीएम ने मामले की जांच की, लेकिन बाद में आयोग ने यह जांच एडीएम शिमला के मार्फत करवाई। फैक्ट फाइंडिंग कमेटी ने जब जांच की तो इसमें कोई गड़बड़ी नहीं निकली और स्टे विकेट हो गया। लेकिन इसमें कई माह निकल गए, उसके बाद बाहरी राज्यों के उम्मीदवारों को मूल्यांकन के 15 नंबर दिए जा सकते हैं या नहीं, इसकी क्लेरीफिकेशन लेने में समय लगा। 1 मई 2018 को ही इसकी क्लासिफिकेशन कमीशन के पास पहुंची है अब इसके बाद फाइनल प्रोसेस पूरा करने के बाद ही रिजल्ट डिक्लेयर हो पाएगा।




X
पहली परीक्षा का रिजल्ट आया नहीं दूसरे की निकाल दी तिथि, प्रदर्शन
Click to listen..