--Advertisement--

न दुकानों के आगे डस्टबिन रखे, न ही येलो लाइन योजना पर कुछ हुआ

अप्पर बाजार की ब्यूटीफिकेशन की योजना एक बार फिर धरी रह गई है। प्रशासन ने करीब चार माह पहले गांधी चौक से लेकर बाल...

Dainik Bhaskar

May 05, 2018, 02:00 AM IST
न दुकानों के आगे डस्टबिन रखे, न ही येलो लाइन योजना पर कुछ हुआ
अप्पर बाजार की ब्यूटीफिकेशन की योजना एक बार फिर धरी रह गई है। प्रशासन ने करीब चार माह पहले गांधी चौक से लेकर बाल सीनियर सेकंडरी स्कूल तक के हिस्से की ब्यूटीफिकेशन को लेकर एक प्लान तैयार किया था। लेकिन अब इस प्लान का कुछ पता नहीं है, जिन अधिकारियों ने इस योजना को तैयार किया था वह बदल गए हैं। नए कब तक इसे शुरू करेंगे, पता नहीं है। लेकिन फिलहाल लगता यही है कि ब्यूटीफिकेशन और माल रोड बनाने की योजना जल्द शुरू नहीं हो पाएगी।

शहर की हर छोटी बड़ी-दुकान के बाहर स्वच्छता का संदेश अलग तरीके से देने के लिए लाल रंग के डस्टबिन रखने की योजना तैयार की गई थी। प्रशासन ने इसे लेकर खाका भी तैयार किया था, लेकिन पिछले डीसी राकेश प्रजापति के ट्रांसफर होकर चले जाने के बाद स्कीम बीच में ही फंसी हुई है। प्रशासन ने व्यापार मंडल के साथ मीटिंग करके फैसला लिया था कि मेन बाजार साफ रहे, कहीं गंदगी न फैले, लिहाजा हर दुकानदार अपनी दुकान के बाहर एक ही रंग के डस्टबिन रखेगा ताकि दूर से ही इनका पता चल जाए।

ग्राहक और दूसरे राहगीर सड़क पर कूड़ा फेंकने की वजह इन का इस्तेमाल कर सकें। प्रशासन ने मेन बाजार में अतिक्रमण रोकने के लिए बाजार के ऊपरी हिस्से में ट्रायल के तौर पर दुकानों के आगे लोहे की रेलिंग लगाने की योजना तैयार की थी। जिसका दुकानदारों ने तब विरोध किया था और प्रशासन के साथ इसे लेकर बैठक की थी।

दुकानदारों ने अतिक्रमण में सहयोग करने का आश्वासन दिया था, जिस पर रेलिंग की जगह ट्रायल के तौर पर एक येलो लाइन लगाने पर सहमति बनी थी ताकि उस लाइन के बाहर कोई भी दुकानदार अपना सामान न रखें। अतिक्रमण न हो, राहगीरों को सड़क आने-जाने के लिए खुली मिले। लेकिन यह येलो लाइन कई माह बीत जाने के बाद भी बाजार में नहीं लग पाई है।

शहर के गांधी चौक से बाल स्कूल तक किनारों पर नहीं लगी येलो लाइन।

जगह-जगह उखड़ा पड़ा है चौक

ब्यूटीफिकेशन तो दूर की बात रही, यहां गांधी चौक जगह-जगह से उखड़ा पड़ा है। आए दिन कभी सीवरेज चैंबर तो कभी पेयजल पाइप डालने के लिए सड़क को उखाड़ा जाता है। बाजार की मेन सड़क की टारिंग का काम भी पिछले दो सालों से ज्यादा समय से अटका हुआ है।

X
न दुकानों के आगे डस्टबिन रखे, न ही येलो लाइन योजना पर कुछ हुआ
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..