--Advertisement--

दावे खोखले, पैचवर्क को तरसी ग्रामीण सड़कें

भास्कर न्यूज | लदरौर( हमीरपुर) इस इलाके के साथ सटी कई संपर्क सड़कें पैचवर्क को मोहताज हैं। लेकिन लगता है सरकार और...

Danik Bhaskar | May 06, 2018, 02:00 AM IST
भास्कर न्यूज | लदरौर( हमीरपुर)

इस इलाके के साथ सटी कई संपर्क सड़कें पैचवर्क को मोहताज हैं। लेकिन लगता है सरकार और विभाग के दावे इन सड़कों पर बने बड़े-बड़े गड्ढे और उखड़ी सड़कों से उनकी पोल खोल रहे हैं।

हमीरपुर और बिलासपुर दो जिलों की संगम स्थली लदरौर के बड़े क्षेत्र में सड़कों का जाल है। इसमें सभी सड़कें बुरी तरह फटेहाल हैं। कुछ पर इक्का-दुक्का पैचवर्क शुरू अब हुआ है। लेकिन बरसात का मौसम आने में देरी नहीं लगेगी और लगता नहीं कि जिस रफ्तार से यह ‘पेचवर्क’ हो रहा है मुकम्मल हो पाएगा।

यही वजह है कि इलाके की यह तमाम सड़कें फिर फटेहाल ही रहेंगी। लदरौर से ताल महल और इसके बीच में जितने भी लिंक रोड हैं, उनमें जगह-जगह गड्ढे बने हुए हैं।

लाहौर से आगे बम, हटवार और जाहू को जोड़ने वाली सड़क की हालत भी खराब है। कई जगह तो बड़े-बड़े गड्ढे हैं और कई जगह सड़क का काफी हिस्सा अब रेत-बजरी में बदल चुका है।

लदरौर-जाहू बाया हटवाड़ खस्ताहाल यह सड़क पैचवर्क को तरसी है।

कांगू-दांदडू सड़क की हालत खस्ता

यही हालत गलोड़ इलाके की कई सड़कों की है। कांगू और दांदडू और कांगू से धनेटा को जोड़ने वाली सड़क की हालत भी खराब है। उधर बिझड़ी इलाके में भी सड़कों की हालत अच्छी नहीं है। बिझड़ी से बरठीं रोड बुरी तरह फटेहाल है। पेचवर्क कब शुरू होगा, लोग बरसों से इंतजार कर रहे हैं। इधर बड़सर के एक्सईएन संतोष कटोच का कहना था कि जितना बजट आया है काम शुरू किया गया है। उम्मीद यही है की जहां-जहां सड़कें खराब हैं उनकी हालत सुधार दी जाएगी।