Hindi News »Himachal »Hamirpur» हमीरपुर डिपो के पास बसों की कमी, शुरू नहीं हो रहे नए रूट्स

हमीरपुर डिपो के पास बसों की कमी, शुरू नहीं हो रहे नए रूट्स

जिला के एकमात्र हिमाचल परिवहन निगम के डिपो में बसों की समस्या अब गहराने लगी हैं। इसका सीधा असर उन रूट्स पर पड़ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 06, 2018, 02:00 AM IST

हमीरपुर डिपो के पास बसों की कमी, शुरू नहीं हो रहे नए रूट्स
जिला के एकमात्र हिमाचल परिवहन निगम के डिपो में बसों की समस्या अब गहराने लगी हैं। इसका सीधा असर उन रूट्स पर पड़ने लगा है जो रनिंग पर हैं जबकि नए रूट्स चलाने की योजना दो कारणों से फाइलों में ही धूल फांकने लगी है। ऐसा नहीं हैं कि निगम के इस डिपो की ओर से नए रूट्स को चलाने के लिए मसौदा न तैयार किया गया हो, लेकिन एक तो यह आरटीए की बैठक न होने से रुके हैं। दूसरा अब बसों की समस्या भी भारी पड़ने लगी हैं, जो चल रहे हैं, उनमें भी कई रूट्स को ड्रॉप करने की समस्या को इसी के साथ जोड़ा जाने लगा है। जिसका खामियाजा उन यात्रियों को भुगतना पड़ रहा है जो घंटों बसों का इंतजार तो करते हैं, लेकिन अचानक बस न आने से उन्हें टैक्सियों या दूसरे व्हीकल से गंतव्य तक पहुंचना पड़ रहा है।

इस डिपो में निगम की करीब 108 बसों से ज्यादा हैं। जबकि यहां से 120 रूट से ज्यादा सेंक्शन हैं, इनमें कुछ पर तो बसों को नहीं भेजा जाता। इस डिपो में वैसे 15 बसों की कमी की सूची अधिकारियों की ओर से तैयार की गई है। रोजाना यहां वर्कशॉप में 8 से 10 बसों को मामूली से लेकर बड़ी रिपेयर को लेकर बसें खड़ी रहती हैं। यही नहीं पिछले कुछ दिनों से रास्तों में ही निगम की बसों की ब्रेक डाउन होने की भी संख्या में इजाफा हुआ है। जिस कारण किसी रूट पर बस के खराब होने पर दूसरी स्पेयर तौर पर रखी जाने वाली बसों को भेजना पड़ रहा है। लोगों राजकुमार शर्मा, विनय ठाकुर, विपिन भारद्धाज, राजेश कटोच, करण सिंह व किशोरी लाल सहित कई लोगों का कहना है कि ग्रामीण स्तर पर निजी बसें कम ही रूट पर चलती हैं, ऐसे में उन्हें निगम की बसों पर निर्भर रहना पड़ता है, किसी रोज बस के न आने से स्कूल या ऑफिस जाने वालों के साथ रुटीन की यात्रा करने वालों को भारी परेशानी आती है। उन्होंने परिवहन मंत्री से भी मांग की है कि यहां के डिपो में पर्याप्त बसों को भेजा जाए और नए रूट्स चलाने के लिए भी कड़े दिशा-निर्देश दिए जाएं।

यहां एक तरफ खड़ी जेएनएनयूआरएम योजना की बसें, जिन्हें निगम के रूट्स पर नहीं चलाया जा सकता, बसों की कमी के कारण जिले में रूट हो रहे हैं प्रभावित।

यह तो चल नहीं सकती

ऐसा नहीं है कि निगम के इस बेड़े में बसों की कमी हो, लेकिन निगम की 108 बसों के अलावा यहां जेएनएनयूआरएम की भी दो दर्जन से ज्यादा बसें हैं, जिनकी कीमत करोड़ों में हैं और कई माह से एक तरफ खड़ी की गई हैं और धूल फांक रही हैं। उन्हें इसलिए नहीं चलाया जा सकता, क्योंकि वह योजना के तहत हैं और उनका मामला कोर्ट में भी है। जाहिर है निगम को ही नई बसें मिलने पर लोगों की समस्या का समाधान हो सकेगा।

बसों की कमी के कारण रूट हो रहे हैं प्रभावित

एक दर्जन से ज्यादा बसों की कमी है। नए रूट्स तभी चल सकेंगे, जब बसें पर्याप्त होंगी। जो रूट प्रभावित होते हैं, वह भी बसों की कमी के कारण ही होता है। योजना की बसों का मामला कोर्ट में होने के कारण उन्हें निगम के रूट्स पर नहीं भेजा जा सकता। अनूप राणा, आरएम, हिमाचल परिवहन निगम, हमीरपुर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hamirpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×